Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

CAA का विरोध : जाफराबाद के पास मौजपुर में हिंसक प्रदर्शन, पत्थरबाजी में कई लोग जख्मी

webdunia

वेबदुनिया न्यूज डेस्क

रविवार, 23 फ़रवरी 2020 (17:23 IST)
नई दिल्ली। शाहीन बाग की तरह ही दिल्ली के जाफराबाद में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया। यह प्रदर्शन रविवार को हिंसक हो गया। जाफराबाद के पास मौजपुर में जमकर पत्थरबाजी हुई, जिसमें कई लोग घायल हो गए। 

मौजपुर में स्थित नियंत्रण में : जमकर हिंसा के बाद देर शाम को यहां स्थिति नियंत्रण में है। बड़ी संख्या में पुलिसबल के अलावा पैरा मिलेट्री फोर्स ने मोर्चा संभाल लिया है। अब यहां से किसी अप्रिय घटना के समाचार नहीं है। 
 
डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले हिंसा : जानकारों का कहना है कि शा‍हीन बाग में काफी समय से शांतिपूर्वक प्रदर्शन चल रहा था लेकिन अचानक ऐसा क्या हुआ कि जाफराबाद के पास मौजपुर में हिंसा हो गई? यह सब सोची समझी चाल के तहत हुआ है ताकि अमेरिकी राष्ट्रपति के आने से कुछ घंटे पहले लोगों का ध्यान इस ओर आकर्षित किया जा सके।
 
उल्लेखनीय है कि रविवार को शाम साढ़े चार बजे जाफराबाद के पास मौजपुर में हुई हिंसक घटना के बाद भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि हम इसे शाहीन बाग नहीं बनने देंगे। उन्होंने धरने पर बैठे लोगों से कहा कि वे सड़क खाली कर दें। यहां पर 35 लाख लोग रहते हैं, जो सीधे प्रभावित हो रहे हैं।

CAA के पक्ष में कपिल मिश्रा के नेतृत्व में यहां प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि हम 3 दिन के लिए इसे स्थगित कर रहे हैं। इससे पहले यहां पर लोग हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे थे।
webdunia

चांदबाग से आगे जाफराबाद और उससे आगे मौजपुर आता है। इसी मौजपुर में रविवार को जमकर हिंसा हुई है। आरोप है कि लोगों ने आमने-सामने के अलावा घरों की छतों से पत्थर फेंके हैं।

जाफराबाद में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में धरने पर बैठे लोगों का कहना है कि हमारा प्रदर्शन शांतिपूर्वक चल रहा था कि अचानक पत्थरबाजी शुरू हो गई जबकि हमारी सुरक्षा के लिए वहां कई पुलिसकर्मी मौजूद थे। हिंसा के बाद इलाके में बड़ी संख्या में पुलिसबल पहुंच चुका है।
webdunia

यह भी खबरें आ रही हैं कि यहां पर फायरिंग भी हुई है। फायरिंग की पुष्टि होनी बाकी है। पुलिस भीड़ को काबू पाने के लिए आंसूगैस के गोले छोड़ रही है। सनद रहे कि शनिवार देर रात जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर बड़ी संख्या में महिलाएं इकट्ठी हुईं और धरने पर बैठ गईं। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन जाफराबाद में प्रवेश और निकास बंद कर दिया गया।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के अनुसार जाफराबाद स्टेशन पर ट्रेनों नहीं रुकेंगी। महिलाओं ने रात से ही मुख्य सड़क को बंद कर दिया है और वे धरने पर बैठी हैं। महिलाओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई।

इधर भीम आर्मी के चीफ चन्द्रशेखर ने कहा कि उनके भारत बंद के समर्थन में यह प्रदर्शन किया जा रहा है। महिलाओं ने नारे लगाते हुए कहा कि वे तब तक प्रदर्शनस्थल से नहीं हटेंगी जब तक केंद्र सरकार सीएए को रद्द नहीं कर देती।

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने अपने हाथों में नीले रंग की पट्टी बांध रखी है और जय भीम के नारे लगा रहे हैं। चंद्रशेखर ने महिलाओं के प्रदर्शन के वीडियो को भी ट्‍वीट किया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

तुर्की में 5.7 तीव्रता का भूकंप, 7 लोगों की मौत, 5 घायल