Weather Prediction: हिमाचल प्रदेश में बारिश और बर्फबारी की संभावना, भोपाल में गुलाबी ठंड का आभास

बुधवार, 12 फ़रवरी 2020 (07:47 IST)
शिमला। हिमाचल प्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान बारिश और बर्फबारी की संभावना है। मौसम विभाग ने 11 और 12 फरवरी को प्रदेश के कुछ ऊंचे क्षेत्रों में बर्फबारी व मध्यवती क्षेत्रों में बारिश की संभावना जताई है। उसके बाद मौसम साफ रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह ने इसकी पुष्टि की है।
ALSO READ: केदारनाथ मंदिर परिसर में रिकॉर्ड बर्फबारी, 9 फुट बर्फ जमी, भारी नुकसान की आशंका...
राज्य में अभी कड़ाके की ठंड बरकरार है तथा कुछ स्थानों पर पारा जमाव बिंदु से नीचे चल रहा है। प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान के साथ अधिकतम तापमान भी जमाव बिंदु से नीचे है।
 
मध्यवर्तीय और ऊंचाई वाले इलाकों में सुबह से बादल छाए हुए हैं। प्रदेश में सुबह व शाम का तापमान में कोई खास परिवर्तन नहीं हुआ और सामान्य दर्ज किए गए। आने वाले दिनों में तापमान में हल्की गिरावट आने की संभावना है। मंगलवार को शिमला से ज्यादा ठंडा सोलन रहा, जहां रात और सुबह का तापमान कम दर्ज किया गया।
 
सोलन में न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री : सोलन में न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री रहा जबकि राजधानी में 4.1 डिग्री दर्ज किया गया। इसके अलावा लाहौल स्पीति के मुख्यालय केलांग 0 से कम 10.8 डिग्री, कल्पा 0 से कम 4.0 डिग्री और मनाली में न्यूनतम पारा 0 से कम 2.0 डिग्री सेल्सियस रहा। ऊना 5.4, भुंतर में 2.3, सुंदरनगर 3.5, धर्मशाला 4.2, पालमपुर 3.0, कुफरी 2.1, डलहौजी 3.9 और चंबा में पारा 3.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। 
ALSO READ: बर्फ में फंसे 9 लोगों की SDRF ने बचाई जान, वाहन फिसलकर चट्टान में फंस गया था
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में गुलाबी ठंड का आभास : करीब 2 माह से अधिक समय तक कड़ाके की ठंड का सामना करने के उपरांत मध्यप्रदेश में अब सर्द हवाओं का असर कम होने लगा है और राजधानी भोपाल में तो गुलाबी ठंड का आभास होने लगा है।
 
मौसम विज्ञान केंद्र भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक उदय सरवटे ने बताया कि दक्षिणी मध्यप्रदेश के वायुमंडल में एक 'एंटी साइसर' बन गया है, जो 3-4 दिन तक पारा गिरने नहीं देगा। उसके बाद तो सामान्य रूप से भी अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान में वृद्धि होने का सिलसिला चालू हो जाएगा। फिलहाल किसी अन्य सिस्टम के बनने की संभावना भी कम है।
 
मंगलवार रात उमरिया, बैतूल, सीधी और सिवनी जिलों में कहीं-कहीं शीतलहर का हल्का प्रभाव था, लेकिन मंगलवार को वह भी नहीं है। प्रदेश में उत्तर-पूर्वी हवाएं चल रही हैं और इसकी रफ्तार भी ज्यादा नहीं है।
प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 5 डिग्री उमरिया में रिकॉर्ड हुआ है।
 
राजधानी भोपाल में मंगलवार को अधिकतम तापमान 27.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। यह सामान्य से 0.1 डिग्री ज्यादा है जबकि न्यूनतम 11.4 डिग्री अंकित हुआ, जो सामान्य से 1 डिग्री कम है।
 
सरवटे के अनुसार भोपाल में अब सुबह और शाम की ठंड रह गई है। मौसम को देखते हुए इसे गुलाबी ठंड कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश का मौसम शुष्क रहेगा तथा न्यूनतम एवं अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी हो सकती है।
 
कड़ाके की ठंड के बाद मौसम सुहावना : पश्चिमोत्तर क्षेत्र में अगले कुछ दिन मौसम साफ रहने तथा अगले 2 दिन कुछ स्थानों पर कोहरा पड़ने की संभावना है।
 
दिल्ली में कड़ाके की ठंड : मौसम साफ रहने से दिन में सर्दी से राहत मिली तथा सुबह-शाम अभी ठंड पड़ रही है तथा हलवारा का पारा 3 डिग्री रहा। हिसार, करनाल, नारनौल, रोहतक, लुधियाना, आदमपुर, गुरदासपुर का पारा क्रमश: 4 डिग्री, अंबाला, अमृतसर बठिंडा, पटियाला तथा दिल्ली का पारा क्रमश: 5 डिग्री रहा।
 
चंडीगढ़ का पारा 7 डिग्री : मौसम केंद्र के अनुसार क्षेत्र में अगले कुछ दिन तक मौसम खुश्क रहने तथा अगले 48 घंटों में कुछ इलाकों में कोहरा पड़ने के आसार हैं। शीतलहर तथा पाले से अब राहत मिली है लेकिन सुबह-शाम अभी ठंड जारी है। चंडीगढ़ का पारा 7 डिग्री, भिवानी, पठानकोट का पारा क्रमश: 6 डिग्री, श्रीनगर 0 डिग्री, जम्मू का पारा 8 डिग्री रहा। हिमाचल प्रदेश में मौसम के करवट बदलने से कड़ाके की ठंड से कुछ राहत मिली।
 
मनाली का पारा 0 से 2 डिग्री नीचे, कल्पा 0 से कम 4 डिग्री, सोलन 2 डिग्री, ऊना 5 डिग्री, नाहन 10 डिग्री, भुंतर 2 डिग्री, धर्मशाला 4 डिग्री, मंडी 6 डिग्री, शिमला 4 डिग्री, सुंदरनगर 3 डिग्री और कांगड़ा 5 डिग्री रहा।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Delhi Election Results 2020 : काम नहीं आया कांग्रेस का दांव, हारे पांचों मुस्लिम उम्मीदवार