Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Weather Updates: तमिलनाडु और अंडमान में वर्षा की संभावना, दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता बहुत खराब

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 9 नवंबर 2022 (08:34 IST)
नई दिल्ली। चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है। दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी और उससे सटे भूमध्यरेखीय हिन्द महासागर से बनी पूर्व-पश्चिम ट्रफ रेखा दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे सटे दक्षिण श्रीलंका तट तक फैली हुई है। दिल्ली और एनसीआर का वायु गुणवत्ता सूचकांक खराब से बहुत खराब श्रेणी में रहेगा। तमिलनाडु और अंडमान में वर्षा की संभावना है।
 
एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र नगालैंड और उससे सटे इलाकों में निचले स्तरों पर बना हुआ है। 9 नवंबर तक श्रीलंका तट के पास दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। यह उत्तर-पश्चिम दिशा में तमिलनाडु तट की ओर बढ़ सकता है।
 
पिछले 24 घंटों की मौसमी हलचल : स्काईमेट के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान चेन्नई सहित तमिलनाडु के उत्तरी तट पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई। तटीय तमिलनाडु, केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश हुई।
 
उत्तरी राजस्थान, लक्षद्वीप और तटीय कर्नाटक में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई। गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और जम्मू-कश्मीर में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात हुआ। दिल्ली और एनसीआर का वायु गुणवत्ता सूचकांक बहुत खराब से खराब श्रेणी में रहा।
 
webdunia
अगले 24 घंटों की संभावित गतिविधि : अगले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और तमिलनाडु के दक्षिणी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। तमिलनाडु और केरल के शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश संभव है।
 
दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, लक्षद्वीप, पंजाब के कुछ हिस्सों, हरियाणा, दिल्ली और उत्तरी राजस्थान में छिटपुट हल्की बारिश संभव है। गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और जम्मू-कश्मीर में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात संभव है। हिमाचल प्रदेश और लद्दाख में छिटपुट हल्की बारिश और हिमपात संभव है। दिल्ली और एनसीआर का वायु गुणवत्ता सूचकांक खराब से बहुत खराब श्रेणी में रहेगा।
 
Edited by: Ravindra Gupta

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

क्या हिमाचल में बदलेगा 37 साल पुराना इतिहास? आसान नहीं है पहाड़ी राज्य में भाजपा की राह