Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

पश्चिमी महाराष्ट्र में बाढ़ का कहर, 1.32 लाख लोग प्रभावित, स्कूल-कॉलेज बंद

webdunia
बुधवार, 7 अगस्त 2019 (23:10 IST)
पुणे। पश्चिमी महाराष्ट्र में खास तौर पर कोल्हापुर और सांगली जिलों में बाढ़ की स्थिति भयावह होने के बाद 1.32 लाख से ज्यादा लोगों ने सुरक्षित स्थानों पर शरण ली है। यहां लगातार हुई बारिश से यह स्थिति उत्पन्न हुई है। कोल्हापुर और सांगली जिलों में स्कूलों और कॉलेजों में बुधवार को छुट्टियों की घोषणा कर दी गई।
webdunia
अधिकारियों ने बताया कि पिछले सात दिनों में बारिश और बाढ़ से संबंधित विभिन्न घटनाओं में 16 लोगों की मौत हो चुकी है।
webdunia
पुणे के प्रखण्ड आयुक्त डॉक्टर दीपक महाइसेकर ने कहा, 'पुणे क्षेत्र में (पुणे, सातारा, सोलापुर, सांगली और कोल्हापुर जिलों में) अब तक बाढ़ से 1.32 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। उन्होंने बताया कि सांगली और कोल्हापुर जिलों में क्रमश: 53,000 और 51,000 लोगों को बाहर निकाला गया है।'
webdunia
महाइसेकर ने कहा, 'सेना, नौसेना और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) दोनों जिलों में बचाव अभियान चला रहे हैं और बुधवार शाम तक एनडीआरएफ की छह और टीम कोल्हापुर जाएगी।'
webdunia
उन्होंने बताया कि सभी क्षेत्रों की बांधों में जरूरत से ज्यादा पानी है और मौसम विभाग ने अगले चार दिन में लगातार बारिश होने की आशंका जताई है। इसलिए अगर संबंधित बांध क्षेत्रों में ज्यादा बारिश होती है तो ज्यादा बाढ़ से इनकार नहीं किया जा सकता।
webdunia
मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई में एक बैठक में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने जल संसाधन विभाग को बांधों से जल छोड़े जाने और अन्य परियोजनाओं के बारे में रेलवे के साथ रोजाना जानकारी साझा करने को कहा है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ईद का तोहफा, 12 अगस्त को मुफ्त में देखें ताजमहल