Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

गौतम अडानी ने रचा इतिहास, बने दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 16 सितम्बर 2022 (13:17 IST)
गौतम अडानी दुनिया के दूसरे सबसे बड़े रईस बन गए हैं। अब दुनिया के टॉप-10 अरबपतियों की लिस्ट में एलन मस्क के बाद उनका ही नाम हैं। फोर्ब्स रियल टाइम बिलेनियर इंडेक्स में गौतम अडानी ने बर्नार्ड अर्नॉल्ट को पछाड़कर दूसरा स्थान हासिल किया। हालांकि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स में अभी वह तीसरे स्थान पर ही हैं।
 
फोर्ब्स रियल टाइम बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक, अडानी की दौलत में कुल 5.5 अरब डॉलर का इजाफा हो चुका था। अब वह 155.7 अरब डॉलर के साथ दुनिया के अरबपति नंबर 2 पर आ गए हैं। 273.5 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ एलन मस्क नंबर वन पर बने हुए हैं जबकि बर्नार्ड अर्नाल्ट 155.2 अरब डॉलर के नेटवर्थ के साथ तीसरे नंबर पर हैं। रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी इस लिस्ट में 92.6 अरब डॉलर के साथ 8वें नंबर पर हैं।
 
कैसे पसर रहा अडानी का साम्राज्‍य?
कारोबारी जगत में कदम रखने के बाद से ही अडानी साम्राज्‍य लगातार फैलता जा रहा है। बता दें कि अडानी समूह ने साल 1980 के दशक में जिंस कारोबारी के रूप में काम शुरू किया और बाद में खान, बंदरगाह और बिजली संयंत्र, हवाईअड्डा, डेटा सेंटर तथा रक्षा जैसे क्षेत्रों में कदम रखा। हाल ही में समूह ने होल्सिम की भारतीय इकाइयों का 10.5 अरब डॉलर में अधिग्रहण कर सीमेंट क्षेत्र कदम रखा है।
 
अडानी इंटरप्राइजेज, अडानी पावर और अडानी ट्रांसमिशन में उनके पास 75% हिस्सेदारी है। वह अडानी टोटल गैस का लगभग 37%, अडानी पोर्ट्स और विशेष आर्थिक क्षेत्र का 65% और अडानी ग्रीन एनर्जी का 61% मालिक हैं।
 
अडानी ने बदला कारोबारी पैंतरा
दशकों से अडानी का कारोबार बंदरगाहों, कोयला खनन और शिपिंग जैसे क्षेत्रों पर केंद्रित था। हालांकि, बीते कुछ सालों में नाटकीय बदलाव हुआ है। वह हर क्षेत्र में कदम रख रहे हैं। पेट्रोलियम से लेकर मीडिया तक वह हर सेक्‍टर में पांव फैला रहे हैं। ताजा बानगी एनडीटीवी है। उन्‍होंने 34 साल पुराने मीडिया संस्‍थान में करीब 30 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीद ली। पेट्रोलियम सेक्‍टर में भी वह मौके तलाश रहे हैं। मार्च में अडानी ग्रुप सऊदी अरब में संभावित पार्टनरों की खोज में था। ब्‍लूमबर्ग न्‍यूज के अनुसार, ग्रुप अरामको में खरीदारी की संभावना तलाश रहा था।
 
इन सेक्‍टर्स में अडानी का कारोबार
बिजली संयंत्र
कोयला खनन
शिपिंग
सड़क परियोजनाएं
पोर्ट
सीमेंट
एनर्जी और इकोसिस्‍टम
मीडिया
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कर्तव्य पथ पर ‌बढ़ते प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी !