Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

गुजरात ATS ने 2016 से अब तक 1900 करोड़ से अधिक का मादक पदार्थ जब्त किया

webdunia
सोमवार, 15 नवंबर 2021 (18:36 IST)
अहमदाबाद। गुजरात आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) ने 2016 से अब तक 1900 करोड़ रुपए से अधिक मूल्य का मादक पदार्थ जब्त किया है, जिसमें से 900 करोड़ रुपए का नशीला पदार्थ 2021 में बरामद किया गया। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने बताया कि इस अवधि के दौरान नशीले पदार्थों से संबंधित कुछ प्रमुख मामलों में 70 से अधिक लोगों को एटीएस द्वारा गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के तस्कर गुजरात तट का उपयोग नशीले पदार्थों के परिवहन गंतव्य तक करने के लिए पारगमन मार्ग के रूप में करने की कोशिश कर रहे थे, विशेष रूप से पिछले चार वर्षों में। उन्होंने कहा लेकिन ऐसे सभी प्रयासों को विफल कर दिया गया।

एटीएस अधिकारियों ने कहा कि इस साल, विभिन्न अभियानों में 900 करोड़ रुपए की हेरोइन जब्त की गई। उन्होंने कहा कि इसमें मोरबी जिले से रविवार को बरामद 600 करोड़ रुपए मूल्य की 120 किलोग्राम प्रतिबंधित सामग्री भी शामिल है, जिसे एक पाकिस्तानी तस्कर ने भी भेजा था और समुद्री मार्ग से उसे गुजरात तट पर लाया गया था।

उन्होंने कहा कि 2016 से हेरोइन, मैंड्रेक्स, मेथम्फेटामाइन (या एमडी), चरस और ब्राउन शुगर सहित विभिन्न मादक पदार्थ एटीएस द्वारा जब्त किए गए हैं। उन्होंने बताया कि जब्त मादक पदार्थ का वजन 2,242 किलोग्राम है और वैश्विक बाजार में इसकी अनुमानित कीमत 1,923 करोड़ रुपए है।

एटीएस के आंकड़े के अनुसार इस साल सितंबर में, एटीएस ने भारतीय तटरक्षक बल (आईसीजी) के साथ संयुक्त अभियान में गुजरात तट के अरब सागर में मछली पकड़ने वाली एक ईरानी नौका द्वारा लाई गई 150 करोड़ रुपए मूल्य की 30 किलोग्राम हेरोइन जब्त की थी।

इसके अनुसार, पिछले साल एटीएस ने 177 करोड़ रुपए, 2019 में 526 करोड़ रुपए, 2018 में 14 करोड़ रुपए और 2016 में 303 करोड़ रुपए का मादक पदार्थ जब्त किया था। एटीएस के आंकड़ों के अनुसार, 2017 में कोई बड़ा प्रतिबंधित पदार्थ जब्त नहीं किया गया था।

गुजरात एटीएस के उप महानिरीक्षक (अभियान) हिमांशु शुक्ला ने सोमवार को बताया कि पाकिस्तानी मादक पदार्थ सिंडिकेट तस्करी के उद्देश्य से गुजरात तट को पारगमन मार्ग के रूप में इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उनके सभी प्रयासों को राज्य पुलिस तथा तटरक्षक बल और राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) जैसी केंद्रीय एजेंसियों ने विफल कर दिया।

उन्होंने कहा, ऐसे सभी प्रयासों को गुजरात पुलिस और अन्य केंद्रीय एजेंसियों द्वारा विफल कर दिया गया है, और भविष्य में भी, ऐसा कोई प्रयास सफल नहीं होगा। एटीएस, आईसीजी और समुद्री पुलिस द्वारा समुद्र में बड़ी मात्रा में मादक पदार्थ जब्त किए गए हैं। हमारी 1,600 किलोमीटर लंबी तटरेखा है, इसलिए सभी एजेंसियां ​​इसे हासिल करने के लिए समन्वय में काम करती हैं।(भाषा)
File Photo

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दिल्ली में डेंगू का कहर, इस साल 5200 से ज्यादा मामले