Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मौसम अपडेट : कई राज्यों में बाढ़ से लोगों की दुर्दशा, केरल, महाराष्ट्र, मप्र व राजस्थान बुरी तरह प्रभावित

webdunia
शुक्रवार, 9 अगस्त 2019 (23:44 IST)
नई दिल्ली। केरल, महाराष्ट्र और कर्नाटक सहित कई राज्यों में शुक्रवार को मूसलधार बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ। बारिश के कारण भूस्खलन और बाढ़ ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। भारतीय मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक केरल, महाराष्ट्र, गोवा, मध्यप्रदेश, कर्नाटक और राजस्थान में अगले 24 घंटे में भारी से काफी बारिश होने की संभावना है।
 
केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि पिछले 3 दिनों में बारिशजनित घटनाओं में 28 लोगों की मौत हो गई। केरल में बारिश ने इस वर्ष भी कहर ढाया है तथा वायनाड और मलप्पुरम में भूस्खलन के कारण मलबे में कम से कम 40 लोगों के फंसे होने की आशंका है।
 
राज्य में रेल, सड़क और हवाई यातायात प्रभावित है और कई रेलगाड़ियों को रद्द करना पड़ा और कोच्चि हवाई अड्डे के करीब 60 फीसदी हिस्से में जलभराव के कारण यह 11 अगस्त तक बंद है। राज्य के 14 जिलों में से 9 9 के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है और सभी शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे।
 
अधिकारियों ने बताया कि राज्यभर के 738 राहत शिविरों में 64 हजार लोगों को रखा गया है। केरल के वायनाड लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से बाढ़ को लेकर बात की और उनसे मदद मांगी।
 
पश्चिम महाराष्ट्र के 5 जिलों में भीषण बाढ़ के कारण 2 लाख 85 हजार से अधिक लोगों को निकाला गया है जिसमें बुरी तरह प्रभावित कोल्हापुर और सांगली भी शामिल हैं। बाढ़ के कारण राज्य में मरने वालों की संख्या शुक्रवार को 29 हो गई।
webdunia
कोल्हापुर में 34 राहत दल और सांगली में 36 राहत दल काम कर रहे हैं। इनमें एनडीआरएफ, नौसेना, तटरक्षक बल और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल की टीम भी शामिल है। कर्नाटक में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि बारिशजनित घटनाओं में 12 लोगों की मौत हुई है।
 
जद (एस) सुप्रीमो एचडी देवेगौड़ा ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी से कहा कि कर्नाटक में बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए। इस बीच दिल्ली में मौसम शुष्क बना रहा और शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी का अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस रहा।
 
महाराष्ट्र में नौसेना ने गोदावरी नदी में फंसे 31 मछुआरों को बचाया : अमरावती (महाराष्ट्र) में नौसेना ने शुक्रवार को पोलावरम में गोदावरी नदी के बाढ़ के पानी के बहाव में फंसे 31 मछुआरों को सुरक्षित बचा लिया जिसमें 12 महिलाएं शामिल हैं।
webdunia
प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया कि नौसेना के हेलीकॉप्टर की बचाव अभियान के लिए विशाखापट्टनम से सेवा ली गई और 2 प्रयास के बाद दोवलेश्वरम में फंसे मछुआरों को एयरलिफ्ट करके निकाला गया। नदी में भारी बाढ़ के बावजूद सुबह में दोवलेश्वरम से देशी नौकाओं में 31 लोग निकले। जब वे नदी को पार कर रहे थे तब पोलावरम बांध के ऊपरी बहाव पर वीरावरपुलंका में फंस गए।
webdunia

सांगली शहर बना समंदर : भारी बारिश के कारण सांगली शहर समंदर में तब्दील हो गया है। ऐसी तबाही महाराष्ट्र के किसी शहर ने नहीं देखी है। यहां पर गली से घर तक पानी ही पानी ही है। घर और दुकानों की पहली मंजिल डूबी है, जो 10 से 12 फीट की है। कुदरत के थर्ड डिग्री ने पूरे शहर में तबाही मचा दी है। सेना और एनडीआरएफ के जवान लोगों को बजाने में पूरी शिद्दत से जुटे हैं। 
 
राजस्थान के कई इलाकों में बारिश : जयपुर से मिले समाचारों के अनुसार राजस्थान के कई इलाकों में मानसून की बारिश का दौर जारी है। शुक्रवार को भी जयपुर, कोटा व डबोक सहित अनेक शहरों में बारिश हुई।
 
मौसम विभाग के अनुसार बीते 24 घंटे में राज्य के राजसमंद, बांसवाड़ा, उदयपुर, डूंगरपुर एवं सिरोही जिलों में 5 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। इस दौरान माउंट आबू एवं खुशालगढ़ में 13-13, उदयपुर व मावली में 11-11 तथा सागवाड़ा में 8 सेंटीमीटर बारिश हुई।
 
शुक्रवार को दिन में डबोक में 8 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। जयपुर एवं कोटा में भी हल्की-फुल्की बारिश हुई। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश का दौर अभी जारी रहेगा। अगले 24 घंटे में पूर्वी राजस्थान में कई जगह पर भारी से अति भारी बारिश हो सकती है।
 
मप्र के अशोकनगर में लगातार बारिश में जनजीवन प्रभावित : मध्यप्रदेश के अशोकनगर जिले में लगातार 4 दिनों से जारी बारिश से आम जनजीवन प्रभावित हुआ है। यहां के ज्यादातर जलाशय लबालब हो चुके हैं, वहीं जिले की बड़ी नदियां भी उफान पर हैं।
 
पिपरई तहसील स्थित एक नदी के पुल का 6 फुट हिस्सा बह गया तो वहीं अशोकनगर में तुलसी सरोवर स्थित विसर्जन कुंड की दीवार ढह गई। इसके अलावा जिले में दर्जनों मकान धराशायी हो चुके हैं, वहीं बेतवा नदी के उफान पर रहने से शुक्रवार शाम राजघाट बांध के 3 गेट खोल दिए गए हैं। इसके चलते जिला प्रशासन ने क्षेत्र में अलर्ट जारी कर दिया है।
 
भारी बारिश के चलते शनिवार को झाबुआ जिले में सभी स्कूल बंद : झाबुआ जिले में लगातार हो रही बारिश के चलते जिला प्रशासन ने जिसके समस्त सरकारी एवं निजी स्कूल में अवकाश घोषित किया है। झाबुआ में लगातार बारिश और मौसम विभाग की चेतावनी के बाद कलेक्टर ने यह आदेश दिया है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

एनडीटीवी के प्रणॉय व राधिका रॉय मुंबई हवाई अड्डे पर विदेश जाने से रोके गए