पाकिस्तान को बेनकाब करने की मुहिम तेज, 25 देशों के राजनयिकों से मिले गोखले

शुक्रवार, 15 फ़रवरी 2019 (21:42 IST)
नई दिल्ली। पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग-थलग करने की मुहिम तेज करते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने शुक्रवार को यहां चीन सहित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 5 स्थायी सदस्यों तथा 20 अन्य देशों के राजदूतों से बातचीत की।
 
गोखले ने 25 देशों के भारत स्थित राजनयिकों से मुलाकात की और उन्हें पुलवामा आतंकवादी हमले में पाकिस्तान की भूमिका के बारे में बताया। सूत्रों ने बताया कि सभी राजनयिकों को हमले में पाकिस्तान स्थित तथा उसके द्वारा समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की भूमिका के बारे में जानकारी दी गई।
 
सूत्रों का कहना है कि गोखले ने उनसे स्पष्ट शब्दों में कहा कि पाकिस्तान को उसकी धरती से काम करने वाले आतंकवादी समूहों को हर तरह का सहयोग और वित्तीय मदद तत्काल बंद करनी चाहिए। उन्होंने राजनयिकों को बताया कि पाकिस्तान आतंकवाद का इस्तेमाल उसकी राष्ट्रीय नीति के हथियार के तौर पर कर रहा है।
 
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में सुबह केंद्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति की बैठक में पाकिस्तान को कूटनीतिक स्तर पर घेरने तथा अंतरराष्ट्रीय मंच पर अलग-थलग करने का निर्णय लिया गया, साथ ही पाकिस्तान से सर्वाधिक वरीयता प्राप्त राष्ट्र का दर्जा भी छीन लिया गया है। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बैठक के निर्णयों के बारे में जानकारी दी थी।
 
सुरक्षा समिति की बैठक के बाद विदेश मंत्रालय सक्रिय हो गया। गोखले ने सबसे पहले पाकिस्तानी उच्चायुक्त सोहेल मोहम्मद को तलब किया तथा पुलवामा हमले को लेकर कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने उच्चायुक्त से पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ तुरंत उचित कार्रवाई करने को भी कहा। भारत ने पाकिस्तान में अपने उच्चायुक्त अजय बिसारिया को भी बातचीत के लिए दिल्ली बुलाया है।
 
इसके बाद विदेश सचिव ने चीनी राजदूत लूओ झाओहुई तथा फ्रांस, ब्रिटेन, रूस और अमेरिका के राजदूतों के साथ विचार-विमर्श किया। खाड़ी देशों और जापान तथा कुछ अन्य देशों के राजदूतों को भी बातचीत के लिए आमंत्रित किया गया था। जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने की भारत की मुहिम में रोड़े अटका रहे चीन के विदेश मंत्री ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को संदेश भेजकर पुलवामा हमले की निंदा की है और शहीद जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख भारत ए ने इंग्लैंड लायंस को पारी और रनों से धो डाला