Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कपिल सिब्‍बल का कांग्रेस नेतृत्व पर निशाना, बोले- करीबी ही छोड़ रहे हैं साथ

webdunia
बुधवार, 29 सितम्बर 2021 (17:21 IST)
नई दिल्‍ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल के बयान को लेकर विपक्षी पार्टी कांग्रेस में एक बार फिर से घमासान शुरू हो गया है। सिब्बल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक बार फिर से कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से कांग्रेस के पास कोई अध्यक्ष भी नहीं और जब अध्यक्ष ही नहीं है तो फैसले कौन ले रहा है।

खबरों के अनुसार, कई नेताओं के देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस को छोड़कर जाने और पार्टी के मौजूदा हालात से खफा वरिष्‍ठ नेताओं ने इसे लेकर सवाल खड़े किए हैं। हाल ही में नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस छोड़ने पर पार्टी में घमासान छिड़ गया है।

इसे लेकर कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने सवाल उठाया कि पार्टी में अध्यक्ष भी नहीं है। जब अध्यक्ष ही नहीं है तो फैसले कौन ले रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों के कांग्रेस छोड़ने पर खुद से सवाल है। सिब्बल ने इसे लेकर जल्द से जल्द कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक बुलाने की मांग की है।

सिब्बल ने कहा कि मैं पार्टी का नुकसान होते नहीं देख सकता। मैं पार्टी के साथ हूं, किसी व्यक्ति के साथ नहीं। 
उन्होंने कहा कि सीडब्ल्यूसी में चर्चा हो कि ऐसा क्यों हो रहा है। सोचना होगा कि कांग्रेस कैसे आगे बढ़े। पार्टी के अंदर संवाद की जरूरत है। आपसी बातचीत से मामले सुलझाए जाएं।

उन्‍होंने पंजाब में सियासी अस्थिरता को लेकर भी चिंता जताई। उन्होंने कहा कि एक सीमावर्ती राज्य में ऐसा होना ठीक नहीं है। सिब्बल ने कहा, मैं आपसे उन कांग्रेसियों की ओर से बोल रहा हूं जिन्होंने पिछले साल अगस्त में कांग्रेस वर्किंग कमेटी और सेंट्रल इलेक्शन कमेटी को पार्टी अध्यक्ष के चुनाव के लिए पत्र लिखा था और हम अभी तक इसका इंतजार कर रहे हैं।

कपिल सिब्बल ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर इशारों में हमला बोलते हुए कहा कि जो उनके करीबी थे, वे भी साथ छोड़कर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जितिन प्रसाद, ज्योतिरादित्य सिंधिया और ललितेश त्रिपाठी जैसे बड़े नेता हमें छोड़कर जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी में फिलहाल जिस तरह के हालात हैं, उस पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक बुलाई जानी चाहिए।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Xiaomi 11 Lite 5G NE भारत में हुआ लांच, कीमत में 1500 की छूट के साथ मिल रहे हैं धमाकेदार ऑफर्स