लोकसभा में हंगामा जारी, नहीं हो सका प्रश्नकाल

गुरुवार, 3 जनवरी 2019 (12:14 IST)
नई दिल्ली। अलग-अलग मांगों को लेकर अन्नाद्रमुक और तेलुगुदेशम पार्टी (तेदेपा) के हंगामे के कारण गुरुवार को लोकसभा में प्रश्नकाल बाधित रहा तथा सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी।


सदन की कार्यवाही जैसे ही सुबह 11 बजे समवेत हुई, कांग्रेस सदस्यों ने सबरीमाला मंदिर का मुद्दा उठाया। अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने उन्हें शून्यकाल में मामला उठाने की अनुमति दी, जिसके बाद वे अपनी सीट पर बैठ गए। इस बीच अन्नाद्रमुक और तेदेपा के सदस्य हाथों में तख्तियां लेकर अध्यक्ष के आसन के समीप पहुंच गए। वे जोर-जोर से नारेबाजी कर रहे थे।

अन्नाद्रमुक के सदस्य कावेरी नदी पर बांध निर्माण रोकने की मांग को लेकर सत्र के पहले दिन से ही हंगामा कर रहे हैं। तेदेपा की मांग आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने और वहां रेलवे जोन तथा इस्पात कारखाना बनाने की है।

श्रीमती महाजन ने हंगामा कर रहे सदस्यों को समझाने की कोशिश की। सदस्यों के नहीं मानने पर उन्होंने शोर-शराबे के बीच ही प्रश्नकाल की कार्यवाही शुरू की। कुछ सदस्यों ने कुछ पूरक प्रश्न भी पूछे, लेकिन अन्नाद्रमुक के सदस्यों ने कागज के टुकड़े हवा में उछालने शुरू कर दिए।

श्रीमती महाजन ने उन्हें आगाह किया कि वे ऐसा न करें अन्यथा उन्हें उन सभी को भी निलंबित करना पड़ेगा, लेकिन वे नहीं माने और कागज के टुकड़े उछालने का क्रम जारी रखा। शोर-शराबा बढ़ता देख अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

गौरतलब है कि अध्यक्ष ने बुधवार को भी अन्नाद्रमुक के 25 सदस्यों को कार्यवाही से पांच दिन के लिए निलंबित किया था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख सीरिया में विद्रोहियों और जिहादियों के बीच संघर्ष, 48 की मौत