सर्वे में दिखी लोकसभा चुनाव 2019 की तस्वीर, नरेन्द्र मोदी का चलेगा जोर...

सोमवार, 24 दिसंबर 2018 (20:47 IST)
नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव के बाद केन्द्र में एक बार फिर एनडीए की सरकार बन सकती है। हालांकि यह इस बात पर भी निर्भर करेगा कि उत्तर प्रदेश में मायावती और अखिलेश यादव गठबंधन के जरिए चुनाव लड़ते हैं या फिर अलग-अलग।
 
 
एबीपी न्यूज-सीवोटर के सर्वे के मुताबिक लोकसभा चुनाव में एनडीए को 291 सीटें मिल सकती हैं, जो कि बहुमत से 19 ज्यादा हैं। हालांकि इसमें भी पेंच है। यदि उत्तर प्रदेश में बुआ और बबुआ साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ते हैं तो केन्द्र में त्रिशंकु लोकसभा ‍की स्थिति बन सकती है। 
 
सर्वे के मुताबिक यदि सपा-बसपा अलग होकर चुनाव लड़ते हैं तो भाजपा को 291 सीटें मिल सकती हैं, जबकि यूपीए को 171 और अन्य को 81 सीटें मिल सकती हैं। दूसरी ओर यदि यूपी में दोनों दल मिलकर लड़ते हैं तो इसका सीधा नुकसान एनडीए को होगा। इस स्थिति में एनडीए 247 सीटों तक सिमट सकता है, जो कि बहुमत से 25 सीटें दूर है। यूपीए को 171 सीटें, जबकि अन्य का आंकड़ा 125 तक पहुंच सकता है। 
 
हाल ही में हुए मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में भाजपा को तीनों ही राज्यों में हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन लोकसभा चुनाव में स्थि‍ति तुलनात्मक रूप से ठीक रहेगी। इन राज्यों की 65 में से भाजपा को 47 सीटें मिल सकती हैं, जबकि कांग्रेस को 18 सीटें मिलने की संभावना है। हालांकि 2014 की तुलना में भाजपा को 15 सीटों का नुकसान होता दिख रहा है। 
 
गुजरात में भाजपा को 24 और कांग्रेस को 2, बिहार में एनडीए को 35 और कांग्रेस समर्थित गठबंधन को 5 सीटें मिल सकती हैं। पश्चिम बंगाल में ममता को 32, भाजपा को 9 और अन्य के खाते में 1 सीट मिल सकती है। 
 
राहुल अभी भी मोदी से पीछे : जहां तक प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की बात तो नरेन्द्र मोदी आज भी देशवासियों की पहली पसंद हैं। सर्वे के मुताबिक पीएम पद के लिए नरेन्द्र मोदी 55 फीसदी लोगों की पसंद हैं, जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 34 फीसदी लोगों की पसंद हैं। हालांकि राहुल के लिए यह अच्छी बात है कि लोगों में पूर्व की तुलना में उनकी स्वीकारोक्ति बढ़ी है। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING