पीएम मोदी ने इशारों-इशारों में कह दी यह बड़ी बात, कांग्रेस ने इस तरह दिया जवाब

रविवार, 24 फ़रवरी 2019 (12:12 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने आखिरी मन की बात को संबोधित करते हुए कहा कि अब अगला मन की बात कार्यक्रम मई के अंतिम सप्ताह में होगा। कांग्रेस ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि अगला प्रधानमंत्री कांग्रेस का बनेगा और वह मन की बात नहीं, काम की बात करेगा। 
 
मोदी ने ‘इशारों-इशारों’ में आगामी लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के फिर से सत्ता में आने का रविवार को भरोसा जताया।
 
मोदी ने आकाशवाणी पर अपने 53वें ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा कि अब अगली मन की बात मई महीने के आखिरी रविवार को होगी और वह जनता के आशीर्वाद से एक बार फिर ‘मन की बात’ के माध्यम से बातचीत की सिलसिला आरंभ करेंगे तथा सालों साल करते रहेंगे।
 
उन्होंने कहा कि चुनाव लोकतंत्र का सबसे बड़ा उत्सव होता है। अगले दो महीने हम सभी चुनाव की गहमागहमी में व्यस्त होंगे। मैं स्वयं भी इस चुनाव में एक प्रत्याशी रहूंगा। स्वस्थ लोकतांत्रिक परंपरा का सम्मान करते हुए अगली ‘मन की बात’ मई महीने के आखिरी रविवार को होगी।
 
आगामी आम चुनावों में इशारों-इशारों में राजग की जीत का भरोसा जताते हुए उन्होंने कहा, 'मार्च, अप्रैल और पूरा मई महीना...इन तीन महीनों की सारी भावनाएं... मैं चुनाव के बाद एक नये विश्वास के साथ आपके आशीर्वाद से फिर एक बार ‘मन की बात’ के माध्यम से बातचीत का सिलसिला आरंभ करूंगा और सालों तक आपसे ‘मन की बात’ करता रहूंगा।'
 
उन्होंने काशी के एक कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें यह सुनकर बहुत अच्छा लगा कि लोग न सिर्फ ‘मन की बात’ सुनते हैं, बल्कि उसे कई अवसरों पर याद भी करते हैं।

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से आप सबसे जुड़ना मेरे लिए एक अनोखा अनुभव रहा है। रेडियो के माध्यम से मैं एक तरह से करोड़ों परिवारों से हर महीने रू-ब-रू होता हूं। कई बार तो आप सबसे बात करते, आपकी चिठ्ठियां पढ़ते या आपके फोन पर भेजे गये विचार सुनते, मुझे ऐसा प्रतीत होता है कि आपने मुझे अपने परिवार का ही हिस्सा मान लिया है। यह मेरे लिए एक बहुत ही सुखद अनुभूति रही है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख Pulwama attack के बाद कारोबारियों का पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका, नहीं बेचेंगे ये सामान...