Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

PM Modi Bangladesh Visit: PM मोदी का बांग्लादेश दौरा, 2 मंदिरों को सजाया गया, इन समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
शुक्रवार, 26 मार्च 2021 (00:29 IST)
नई दिल्ली/ ढाका। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना महामारी फैलने के बाद आज पहली बार विदेश यात्रा पर जाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी 26 और 27 मार्च को बांग्लादेश के दौरे पर रहेंगे। प्रधानमंत्री का यह दौरा बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के निमंत्रण पर हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2 दिवसीय बांग्लादेश यात्रा से पहले देश के दक्षिण-पश्चिम में स्थित 2 मंदिरों को सजाया गया है। अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री इन मंदिरों में पूजा-अर्चना करेंगे।
साथ ही पीएम मोदी बांग्लादेश की स्वतंत्रता की स्वर्ण जयंती और बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की जन्मशताब्दी को लेकर मनाए जाने वाले भव्य कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। कोरोनावायरस महामारी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी पहली अंतरराष्ट्रीय यात्रा के दौरान 26 एवं 27 मार्च को बांग्लादेश का दौरा करेंगे। इस दौरान वे बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ प्रतिनिधमंडल स्तरीय वार्ता भी करेंगे।  
प्रधानमंत्री ने जाहिर की खुशी : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि बांग्लादेश के साथ भारत की साझेदारी ‘पड़ोसी प्रथम’ नीति का अहम स्तंभ है तथा दोनों देश इसे और गहरा व बहुआयामी बनाने को प्रतिबद्ध हैं। प्रधानमंत्री ने इस बात पर खुशी जताई कि पिछले साल कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद उनकी पहली विदेश यात्रा ऐसे पड़ोसी मित्र देश की हो रही है, जिसके साथ भारत के गहरे संबंध हैं।
 
मोदी ने कहा कि वे बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री के निमंत्रण पर 26-27 मार्च को बांग्लादेश की यात्रा करेंगे। उन्होंने कहा कि वह बांग्लादेश के राष्ट्रीय दिवस समारोह में भाग लेने का इंतजार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे खुशी है कि कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद किसी ऐसे पड़ोसी मित्र देश की यह मेरी पहली विदेश यात्रा है, जिसके साथ भारत के सांस्कृतिक, भाषाई और दोनों देशों के लोगों के बीच आपस में गहरे संबंध हैं।
 
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि वह बंगबंधु के जीवन और आदर्शों को याद करने, बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई व दोनों देशों के कूटनीतिक संबंधों के 50 वर्ष पूरे होने के अवसर पर आयोजित समारोहों में शिरकत करने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।
ALSO READ: कल के भारत बंद के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा ने दिल्ली जाने वाले वैकल्पिक रास्तों को बंद करने का किया बड़ा ऐलान
उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘बांग्लादेश के साथ हमारी साझेदारी हमारी ‘पड़ोसी प्रथम’ नीति का एक अहम स्तंभ है तथा हम इसे और गहरा एवं बहुआयामी बनाने को प्रतिबद्ध हैं। हम प्रधानमंत्री शेख हसीना के गजब के नेतृत्व में बांग्लादेश की उत्कृष्ट विकास यात्रा को समर्थन जारी रखेंगे।’’
 
जशोरेश्वरी काली मंदिर में पूजा : प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, मोदी ने कहा कि वह पौराणिक परंपरा की 51 शक्तिपीठों में से एक प्राचीन जशोरेश्वरी काली मंदिर में देवी काली की पूजा करने का भी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह विशेष रूप से ओराकांडी में मतुआ समुदाय के प्रतिनिधियों के साथ अपनी बातचीत की प्रतीक्षा कर रहे हैं जहां से श्री हरिचंद्र ठाकुर जी ने अपने पवित्र संदेश का प्रसार किया था।
 
विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर : विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी की इस यात्रा के दौरान विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए नयी घोषणाएं भी की जाएंगी। श्रृंगला ने कहा कि मोदी गोपालगंज जिले के तुंगीपाड़ा में 'बंगबंधु' शेख मुजीबुर रहमान के स्मारक पर भी जाएंगे। वह उस स्थान पर जाने वाले पहले गणमान्य भारतीय व्यक्ति होंगे। उन्होंने इस यात्रा को बेहद खास और महत्वपूर्ण करार दिया और कहा कि इस दौरान दोनों देशों के बीच विशेष संबंधों पर जोर रहेगा।
 
पांच समझौतों पर हस्ताक्षर :  बांग्लादेश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 2 दिवसीय यात्रा के दौरान नई दिल्ली और ढाका के बीच कम से कम 5 सहमति पत्रों (एमओयू) पर हस्ताक्षर होने की संभावना है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ. एके अब्दुल मोमेन ने कहा कि एमओयू की संख्या कम या ज्यादा हो सकती है, लेकिन कम से कम 5 एमओयू पर हस्ताक्षर होने की संभावना है।
 
मंदिरों को सजाया गया :  बांग्लादेश के दक्षिण-पश्चिम में स्थित दो मंदिरों को सजाया गया है। प्रधानमंत्री मोदी इन मंदिरों में पूजा-अर्चना करेंगे। प्रधानमंत्री दक्षिण-पश्चिम स्थित सतखीरा और गोपालगंज के जेशोरेशवरी एवं ओरकांडी मंदिरों में दर्शन के लिए जाएंगे। ईश्वरीपुर गांव स्थित प्राचीन जेशोरेश्वरी काली मंदिर के पुजारी दिलीप मुखर्जी ने कहा कि इस ऐतिहासिक मंदिर में मोदी के स्वागत के लिए हमने सभी तैयारियां की हैं। हम आशा करते हैं कि वह भारत और बांग्लादेश के लाखों लोगों के लिए प्रार्थना करेंगे।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
गृहमंत्री देशमुख के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे परमबीर, स्थानांतरण में भ्रष्टाचार का मुद्दा भी उठाया