इस भारतीय लड़ाकू विमान को अपग्रेड करने में मदद करेगा रूस, होगा यह बड़ा फायदा

बुधवार, 27 फ़रवरी 2019 (08:33 IST)
इरकुत्स्क। पाकिस्तान स्थित आतंकी प्रशिक्षण शिविर पर हमले के बाद भारत को दुनियाभर से समर्थन मिल रहा है। इस बीच रूस ने भारत को लड़ाकू विमान सुखोई एसयू 30 के आधुनिकिकरण का प्रस्ताव दिया है।
 
क्या है एसयू-30 लड़ाकू विमानों में खास : एसयू-30 भारतीय वायुसेना का अग्रिम पंक्ति का लड़ाकू विमान है। यह बहु-उपयोगी लड़ाकू विमान रूस के सैन्य विमान निर्माता सुखोई तथा भारत के हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड के सहयोग से बना है। सन 2002 में इसे भारतीय वायुसेना में सम्मिलित किया गया था। यह एक 4++ पीढ़ी का लड़ाकू विमान है।
 
रूसी उपप्रधानमंत्री का बड़ा बयान : रूस के उप प्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव ने कहा है कि रूस भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों एसयू-30 का आधुनिकीकरण कर सकता है। बोरिसोव ने मंगलवार को पत्रकारों को कहा, 'भारत के पास 200 एसयू-30 लड़ाकू विमान हैं। रूस इन विमानों की परिचालन अवधि को बढ़ाने के लिए इनका आधुनिकीकरण कर सकता है।'
 
कम होगी परिचालन लागत : रूसी उप प्रधानमंत्री ने कहा कि इन लड़ाकू विमानों के आधुनिकीकरण में एसयू-30 एसएम इलेक्ट्रानिक उपकरण की शक्ल और सूरत बदली जाएगी जिससे विमान की परिचालन लागत में कमी आएगी। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकवादियों से मुठभेड़, एक आतंकी ढेर