Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Weather Update : गुजरात के 8 शहरों में भारी बारिश का रेड अलर्ट, कई राज्यों में बाढ़ से हालात

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 15 जुलाई 2022 (08:52 IST)
नई दिल्ली। मध्यप्रदेश, महाराष्‍ट्र, गुजरात समेत कई राज्यों में गुरुवार को भारी बारिश की वजह से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। पिछले कई दिनों से लगातार हो रही बारिश की वजह से नदियां उफान पर है। जल निकासी की समुचित व्यवस्‍था नहीं होने से सड़कों पर पानी भर गया। वेदर रिपोर्ट में जानिए गुरुवार को किन स्थानों पर बारिश हुई और आज कहां कहां बारिश की संभावना है? 
 
इन स्थानों पर बरसा पानी: मौसम एजेंसी स्कायमेट वेदर डॉट कॉम के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान, उत्तरी कोंकण और गोवा, विदर्भ, दक्षिण मध्य प्रदेश और दक्षिण गुजरात में मध्यम से भारी बारिश हुई। दक्षिण कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक, केरल, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, ओडिशा के कुछ हिस्सों हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई और उत्तर-पश्चिम राजस्थान और हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई।
 
अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तटीय आंध्र प्रदेश, गंगीय पश्चिम बंगाल, सिक्किम, झारखंड, छत्तीसगढ़, हरियाणा के कुछ हिस्सों, जम्मू कश्मीर और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश हुई। राजस्थान, कच्छ, दिल्ली, पंजाब, आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु, लक्षद्वीप, रायलसीमा, पूर्वोत्तर भारत में और बिहार और उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई।
अगले 24 घंटों में कैसा रहेगा मौसम : स्कायमेट के अनुसार, मध्य प्रदेश के दक्षिणी हिस्सों, विदर्भ, दक्षिणपूर्व राजस्थान, ओडिशा के कुछ हिस्सों, दक्षिणी छत्तीसगढ़, तटीय कर्नाटक, केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और तेलंगाना में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।
 
लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, ओडिशा के कुछ हिस्सों, झारखंड के गंगीय पश्चिम बंगाल के हिस्सों, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, आंतरिक कर्नाटक, तटीय आंध्र प्रदेश, सिक्किम के कुछ हिस्सों और पूर्वोत्तर भारत में हल्की बारिश हो सकती है।
 
webdunia
गुजरात के 8 जिलों में रेड अलर्ट : मौसम विभाग ने गुजरात के 8 जिलों में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। सूरत, जूनागढ़, गिर, सोमनाथ, नवसारी, भावनगर, डांग और वलसाड़ जिलों में लगातार भारी बारिश हो रही है। राज्य में अब तक कुल 39,177 नागरिकों का रेस्क्यू किया गया। राज्य में राहत और बचाव के लिए एसडीआरएफ की कुल 22 प्लाटून 1 टीम जबकि एनडीआरएफ की कुल 19 टीमों को तैनात किया गया है।

मुंबई अहमदाबाद राजमार्ग पर आवाजाही प्रभावित : महाराष्ट्र के पालघर जिले में भारी बारिश और नदियों के उफान पर होने के कारण मुंबई-अहमदाबाद राजमार्ग पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई। पालघर के जिला कलेक्टर डॉ माणिक गुरसाल ने बताया कि नवसारी और गुजरात के अन्य हिस्सों में मुंबई-अहमदाबाद राजमार्ग पर जलभराव देखा गया, जिससे वाहनों की आवाजाही धीमी हो गई।
 
पूर्वी राजस्थान में मूसलधार बारिश :  राजस्थान में मानसून का दौर जारी है। यहां बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के पूर्वी हिस्सों में मूसलधार बारिश हुई। इस दौरान सबसे अधिक 140 मिलीमीटर बारिश झालावाड़ के डग में दर्ज की गई। बाड़मेर में तालाब में नहाने के दौरान डूबने से एक छात्र की मौत हो गई। आगामी 48 घंटों के दौरान राज्य के अधिकतर स्थानों पर बारिश का दौर जारी रहेगी। 
 
webdunia
36 साल बाद आंध्र में भीषण बाढ़ का खतरा : आंध्र प्रदेश में 36 साल के अंतराल के बाद भीषण बाढ़ की आशंका पैदा हो गई है क्योंकि गोदावरी नदी भयंकर रूप लेती जा रही है जिससे ज्यादातर पश्चिम गोदावरी और कोनसीमा जिलों के कई गांवों के जलमग्न होने का खतरा है। गोदावरी नदी राजामहेंद्रवरम के पास दोवालेस्वरम में सर आर्थर कॉटन बैराज में 17 लाख क्यूसेक के खतरे के तीसरे स्तर के करीब बह रही है।
 
केरल में उफान पर नदियां : उत्तरी केरल में बीते कुछ दिन में मूसलाधार बारिश और तेज हवाओं ने भारी तबाही मचाई है। राज्य के कासरगोड, कोझिकोड और वायनाड जिलों में नदियां उफान पर हैं, जिसके चलते लोगों को आश्रय स्थलों में स्थानांतरित करना पड़ा है।
 
तेलंगाना में 19 हजार ने राहत शिविरों में शरण ली : तेलंगाना में विभिन्न हिस्सों में बारिश होने के कारण निचले इलाकों में पानी भर गया है और इस वजह से पूरे प्रदेश में 19 हजार से अधिक लोगों को राहत शिविरों में भेज दिया गया है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवानों ने 16 लोगों को बचाया जबकि भारतीय वायु सेना ने दो लोगों को निकाला।
 
असम में बाढ़ की स्थिति में सुधार : असम में बाढ़ की स्थिति में बृहस्पतिवार को सुधार जारी रहा। हालांकि, चार जिलों में अब भी करीब 2.29 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। कछार सबसे अधिक प्रभावित जिला है, जहां 1.34 लाख लोग प्रभावित हैं। इसके बाद मोरीगांव (92,850) और तामुलपुर (1,050) का स्थान है। राज्य में इस साल अब तक बाढ़ एवं भूस्खलन से 193 लोगों की मौत हो चुकी है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

वंडर बॉय! 12 साल की आयु में ही मास्टर डिग्री