Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

'वर्क फ्रॉम होम' को लेकर सरकार का बड़ा ऐलान, जानिए क्या होगा असर

webdunia
शुक्रवार, 6 नवंबर 2020 (12:53 IST)
नई दिल्ली। कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम के लिए नियमों में जो विशेष छूट दी गई थी, उसे आईटी, बीपीओ क्षेत्र में अब स्थायी रूप से लागू कर दिया गया है। सरकार ने इस संबंध में नई गाइडलाइंस भी जारी की है। जानिए क्या होगा आप पर असर...
 
सरकार के इस फैसले से बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (BPO), आईटी आधारित सेवाओं (ITeS) वाली कंपनियों के लिए 'वर्क फ्रॉम होम' आसान हो जाएगा।
 
नए नियम से इन कंपनियों के लिए घर से काम करने (Work from Home) और कहीं से भी काम (Work from anywhere) के लिए अनुकूल माहौल बनेगा। कंपनियों के लिए समय-समय पर रिपोर्टिंग और अन्य प्रतिबद्धताओं को समाप्त कर दिया गया है। इससे उद्योग को मजबूती मिलेगी।
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा, 'केंद्र सरकार देश में विकास और नवाचार के लिए अनुकूल वातावरण सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है और सरकार ने बीपीओ उद्योग और आईटी-सक्षम सेवाओं के लिए सरलीकृत दिशानिर्देशों की घोषणा की है।'
 
उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'भारत का आईटी क्षेत्र हमारा गौरव है. इस क्षेत्र की ताकत को पूरी दुनिया मानती हैं। हम भारत में वृद्धि और नवप्रवर्तन के लिए अनुकूल माहौल सुनिश्चित करने को प्रतिबद्ध हैं। इस फैसले से विशेष रूप से देश की युवा प्रतिभाओं को प्रोत्साहन मिलेगा।'
 
केंद्रीय संचार, इलेक्‍ट्रानिक्‍स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी ट्वीट कर  कहा कि सरकार ने ओएसपी के लिए नियामक व्यवस्था को उदार बनाने के लिए एक बड़ी सुधार की पहल की है। उन्होंने लिखा, 'यह IT/ITeS/BPO उद्योग को बढ़ावा देगा और भारत में वर्क फ्रॉम होम के लिए एक अनुकूल माहौल बनाएगा।'
 

क्या है ओएसपी : दूरसंचार संसाधनों का इस्तेमाल कर ऐप्लिकेशन सेवाएं, आईटी से जुड़ी सेवाएं या किसी प्रकार की आउटसोर्सिंग सेवाएं देने वाली कंपनियों को ओएसपी कहा जाता है। इसमें बीपीओ, नॉलेज प्रोसेस आउटसोर्सिंग (केपीओ), आईटीईएस और कॉल सेंटर से जुड़ी कंपनियां आती है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

World corona update: विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 4.86 करोड़ के पार, भारत में संक्रमण घटा