Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Navratri 2019: नवरात्रि में मां दुर्गा के 9 रूप करते हैं 9 ग्रहों को शांत, हर ग्रह की देवी है खास

webdunia
नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा का विधान है। हर रूप का अपना एक महत्व है। आइए जानते हैं मां के नौ रूप और नवग्रहों में है क्या संबंध... 
 
मां शैलपुत्री
 
- यह देवी दुर्गा के नौ रूपों में से प्रथम रूप है। मां शैलपुत्री चंद्रमा को दर्शाती हैं और इनकी पूजा से चंद्रमा से संबंधित दोष समाप्त हो जाते हैं।
 
मां ब्रह्मचारिणी
 
- देवी ब्रह्मचारिणी मंगल ग्रह को नियंत्रित करती हैं। देवी की पूजा से मंगल ग्रह के बुरे प्रभाव कम होते हैं।
 
मां चंद्रघंटा
 
- देवी चंद्रघंटा शुक्र ग्रह को नियंत्रित करती हैं। देवी की पूजा से शुक्र ग्रह के बुरे प्रभाव कम होते हैं।
 
मां कूष्मांडा
 
- मां कूष्माण्डा सूर्य का मार्गदर्शन करती हैं अतः इनकी पूजा से सूर्य के कुप्रभावों से बचा जा सकता है।
 
मां स्कंदमाता
 
- देवी स्कंदमाता बुध ग्रह को नियंत्रित करती हैं। देवी की पूजा से बुध ग्रह के बुरे प्रभाव कम होते हैं।
 
मां कात्यायनी
 
- देवी कात्यायनी बृहस्पति ग्रह को नियंत्रित करती हैं। देवी की पूजा से बृहस्पति के बुरे प्रभाव कम होते हैं।
 
मां कालरात्रि
 
- देवी कालरात्रि शनि ग्रह को नियंत्रित करती हैं। देवी की पूजा से शनि के बुरे प्रभाव कम होते हैं।
 
मां महागौरी
 
- देवी महागौरी राहु ग्रह को नियंत्रित करती हैं। देवी की पूजा से राहु के बुरे प्रभाव कम होते हैं।
 
मां सिद्धिदात्री
 
- देवी सिद्धिदात्री केतु ग्रह को नियंत्रित करती हैं। देवी की पूजा से केतु के बुरे प्रभाव कम होते हैं।

 
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

फटे-पुराने कपड़ों की पोटली रखी है घर में तो होगा ये नुकसान