Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

पं. नेहरू और राजीव गांधी के बाद देश के सबसे स्टाइलिश पीएम हैं नरेंद्र मोदी

हमें फॉलो करें Narendra Modi
शुक्रवार, 16 सितम्बर 2022 (17:00 IST)
जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लालकिले से भाषण देते हैं, या किसी आयोजन में, राजनीतिक सभा आदि में बोलते हैं तो देश का एक वर्ग ऐसा होता है जो सिर्फ यही देखता है कि आज पीएम मोदी ने किस रंग का परिधान पहना है। उनका साफा कैसा है, साफे का रंग कैसा है। उनके कुर्ते का रंग, उसका गला और बाहें किस डिजाइन या पैटर्न की है।

कहने का मतलब है कि उनकी परिधान पहनने की स्‍टाइल और तरीकों पर सबकी नजर रहती है। कई बार ये खबरों का हिस्‍सा भी बनती है और उनके विरोध का कारण भी। अब तो यहां तक कहा जाता है कि पंडित जवाहर लाल नेहरू और राजीव गांधी के बाद नरेंद्र मोदी सबसे स्‍टाइलिश पीएम हैं।

कई बार लोगों ने उनके द्वारा पहनने जाने वाले सूट के सेट की कीमतों का आंकलन कर उसे लाखों रूपए का बताया। इसके बाद उनके कपड़ों और स्‍टाइल को लेकर सोशल मीडिया में लंबी बहस चलती है। कई बार उनके पक्ष के लोग और उनके विरोधी इन्‍हीं बातों को लेकर आमने सामने आ जाते हैं। राजनीतिक गलियारों में भी इन मुद्दों को खूब उछाला जाता है।

कुल मिलाकर हर मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी के परिधान सोशल मीडिया और न्‍यूज में चर्चा का विषय होते हैं। हालांकि पीएम मोदी खुद को चुस्‍त और दुरुस्‍त रखने और दिखाने के लिए भी परफैक्‍ट परिधानों का इस्‍तेमाल करते हैं।

उनके अटायर के बारे में सबकुछ तय होता है। अगर वे परंपरागत परिधान पहनते हैं तो सिर से लेकर पांव तक सबकुछ तय और एक ही स्‍वरुप में होता है। चाहे साफा हो, कुर्ता या पायजामा हो और उनके जूते हों। अगर वे सूट पहनते हैं तो उसी हिसाब से चीजें तय की जाती हैं। इसके साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में यह भी कहा जाता है कि वे हर मौके पर उसी अवसर के मुताबिक परिधानों का चयन करते हैं। चाहे राजनीतिक सभा हो या कोई सामाजिक प्रोग्राम। अगर धार्मिक आयोजन होगा तो उसी हिसाब से उनका परिधान तैयार होगा। कुल मिलाकर पीएम मोदी अब तक के स्‍टाइलिश शख्‍सियतों में शामिल हैं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ऐसा कोई मौका नहीं जब आशीर्वाद लेने न पहुंचे हों ‘मां के लाड़ले मोदी’