Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भारी बारिश के बाद बादल फटने और भूस्खलन के बाद लाहौल स्पीति में फंसे 144 पर्यटक

webdunia
गुरुवार, 29 जुलाई 2021 (23:40 IST)
मुख्‍य बिंदु
  • लाहौल स्पीति में फंसे 144 पर्यटक
  • कई रास्ते एवं पुल क्षतिग्रस्त
  • हेलीकॉप्टर का सहयोग मांगा
शिमला। हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति में बादल फटने और भारी बारिश के बाद जगह-जगह भूस्खलन होने से 144 पर्यटक फंस गए हैं। यहां गुरुवार को एक बयान जारी करके यह जानकारी दी गई। जिला प्रशासन ने बताया कि पट्टन घाटी में 204 लोग फंसे थे जिनमें से 60 को पुलिस और अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने सकुशल बचाकर निकाला। इससे पहले राज्य आपदा प्रबंधन के निदेशक सुदेश कुमार मोखटा ने बताया था कि 175 लोग फंसे हैं जिनमें 60 महिलाएं एवं 16 बच्चे हैं।

 
जिले के एक प्रवक्ता ने बताया कि उपायुक्त नीरज कुमार ने उन्हें वहां से निकालने के लिए राज्य सरकार से हेलीकॉप्टर का सहयोग मांगा है। मोखटा ने बताया कि मौसम के कारण राज्य सरकार के हेलीकॉप्टर से शुक्रवार को मदद लेने की योजना बनाई गई है। उन्होंने कहा कि उन्हें सड़क मार्ग से निकालना मुश्किल जान पड़ता है, क्योंकि पांगी होकर गुजरने वाले मार्ग के शुक्रवार शाम तक तैयार होने की संभावना नहीं है तथा खराब मौसम के कारण जिले में कई रास्ते एवं पुल क्षतिग्रस्त हो गए हैं।

 
पंजाब के होशियारपुर के पर्यटक रवीन्द्र सूद ने एसएमएस के जरिए कहा कि हाल में लाहौल घाटी के झलमान, शांसा और थिरोट क्षेत्रों में बादल फटने के कारण त्रिलोकीनाथ में 100 से अधिक और फूदान के गांवों में 35 से अधिक पर्यटक फंसे हुए हैं। सूद ने कहा कि यह पता नहीं चल पाया कि झालवन और उदयपुर गांवों में कितने लोग फंसे हैं। पहले सूद ने कहा था कि टेलीफोन नेटवर्क काम नहीं कर रहा है।
 
संपर्क करने पर लाहौल-स्पीति के उपायुक्त नीरज कुमार ने कहा कि फंसे हुए लोगों को एक मंदिर में ठहराया गया है और उन्हें पर्याप्त भोजन दिया जा रहा है। उनके अनुसार 72 लोग त्रिलोकीनाथ में फंसे हैं जिनमें 57 कुल्लू के, पंजाब और मंडी के 7-7 तथा होशियारपुर के 5 एवं संगरूर के 2 लोग हैं।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मंत्रिमंडल में फेरबदल की सुगबुगाहट के बीच माकन की विधायकों से चर्चा, गहलोत ने दिया रात्रिभोज