बसपा सुपीमो मायावती ने फिर दिखाई कमलनाथ सरकार को आंख, कांग्रेस सरकार को बताया योगी सरकार जैसा

विशेष प्रतिनिधि

गुरुवार, 14 फ़रवरी 2019 (19:46 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में भले ही कमलनाथ सरकार बसपा के समर्थन से चल रही हो लेकिन दोनों ही पार्टियों में खाई बढ़ती जा रही है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मायावती ने फिर कमलनाथ सरकार के लिए मुश्किलें बढ़ा दी है।
 
खंडवा में गौहत्या को लेकर आरोपियों पर रासुका कार्रवाई को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कमलनाथ सरकार पर बड़ा हमला बोला है। मायावती ने कमलनाथ सरकार और यूपी की योगी सरकार को एक जैसा बता डाला है। 
 
मायावती ने ट्वीट कर लिखा कि 'कांग्रेस की MPसरकार ने पूर्ववर्ती बीजेपी की तरह गौहत्या के शक में मुसलमानों पर रासुका के तहत् बर्बर कार्रवाई की। अब UP बीजेपी सरकार ने AMU के 14 छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया। दोनों सरकारी आतंक है व अति-निन्दनीय। लोग फैसला करें कि दोनों सरकारों में क्या अन्तर है?'
 
मायावती के ट्वीट के मध्यप्रदेश में सियासी सरगर्मी तेज हो गई। सूबे में कांग्रेस सरकार को बसपा अपना समर्थन दे रही है, जिसके सदन में दो विधायक है। दमोह के पथरिया से बसपा विधायक रमाबाई ने पहले ही अपने को मंत्री नहीं बनाए जाने पर सरकार से समर्थन वापसी की धमकी दे चुकी है। 
 
बसपा सुपीमो मायावती का इस बयान के मायने उस वक्त और बढ़ गया, जब 18 मार्च से बजट सत्र शुरू होने जा रहा है। सदन में अपने बल पर बहुमत से दूर कमलनाथ सरकार को पहले ही समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक खुद को मंत्री बनाए जाने की मांग कर चुके है और मंत्री न बनाए जाने पर समर्थन वापस लेने का इशारा भी कर चुके हैं। 
 
विधानसभा के पहले सत्र के निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह 'शेरा' ने दावा भी किया था कि मुख्यमंत्री ने उनको जल्द मंत्री बनाए जाने का भरोसा भी दिलाया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख भारत ए ने इंग्लैंड लायंस को दी फॉलोऑन की शर्मिंदगी