प्रधानमंत्री मोदी की सबसे बड़ी योजना को छत्तीसगढ़ में बड़ा झटका!

विशेष प्रतिनिधि

सोमवार, 24 सितम्बर 2018 (00:20 IST)
रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सबसे बड़ी योजना 'प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत' पर छत्तीसगढ़ में खतरे के बादल मंडरा रहे है। रविवार को जहां प्रधानमंत्री ने झारखंड के रांची से आयुष्मान भारत योजना की विधिवत शुरूआत की, वहीं छत्तीसगढ़ में पहले से ही पायलट प्रोजेक्ट पर चलाई जा रही इस योजना के तहत निजी अस्पतालों और डॉक्टरों ने योजना के तहत इलाज करने से मना कर दिया है।
 
 
डॉक्टरों के संगठन आईएमए ने योजना के तहत इलाज करने से मना करते अपनी सेंट्रल बॉडी को इस आशय का एक पत्र भेज दिया है। योजना पर सवाल खड़ा करते हुए निजी अस्पताल और डॉक्टरों कहना है कि योजना के तहत इलाज करने पर उनको जो पैसा दिया जा रहा है, वो लागत से कम है।
 
योजना के तहत भुगतान को लेकर भी काफी समस्या आ रहीं है। निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने योजना को जिस ढंग से लागू किया जा रहा, उसको लेकर भी सवाल उठाए हैं। छत्तीसगढ़ में 325 प्राइवेट और 608 सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना को पहले से ही पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर चलाया जा रहा था। प्राइवेट डॉक्टर्स के इस फैसले के बाद सरकार हरकत में आ गई है और सरकार बातचीत के जरिए इसका जल्द से जल्द हल निकालने का प्रयास कर रही है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING