छत्तीसगढ़ में वोटिंग से एक दिन पहले नक्सली हमला, BSF के उपनिरीक्षक शहीद

रविवार, 11 नवंबर 2018 (13:01 IST)
जगदलपुर। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में आज विधानसभा चुनाव से पहले एक के बाद एक करके छह विस्फोट किए, जिसमें सीमा सुरक्षा बल के एक उप निरीक्षक महेंद्र सिंह शहीद हो गए। उनकी गर्दन पर गोली लगी थी। वहीं बीजापुर जिले में मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर हो गया।


पुलिस सूत्रों ने बताया कि मतदान से पहले अपनी हिंसक कार्रवाईयों से दहशत फैलाने के उद्देश्य से नक्सलियों ने कांकेर जिले में एक के बाद एक छह सीरियल ब्लास्ट किए। वहीं बीजापुर जिले में मतदान दलों की सुरक्षा में लगी पुलिस पार्टी और नक्सलियों के मध्य हुई मुठभेड़ में पुलिस ने एक काली वर्दीधारी हार्डकोर नक्सली को मार गिराया, जिसका शव एवं हथियार बरामद कर लिया गया है।

कांकेर पुलिस अधीक्षक के एल ध्रुव ने बताया कि कांकेर जिले के कोयलीबेड़ा थाने के उदानपुर कैम्प से सीमा सुरक्षा बल के 35वीं बटालियन के जवान गश्त के लिए रवाना हुए थे। ग्राम गट्टाकाल के निकट जंगल में घात लगाए नक्सलियों ने बल पर निशाना साधते हुए एक के बाद छह सीरियल बारूदी सुरंग विस्फोट किए। इसमें उप निरीक्षक महेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद रायपुर रवाना किया गया, जहां उनकी मौत हो गई। 

बीजापुर पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग ने बताया कि बेदरे थाना क्षेत्र में आज सुबह पुलिस और नक्सलियों के मध्य हुई मुठभेड़ में पुलिस ने एक काली वर्दीधारी अर्थात हार्डकोर नक्सली को मार गिराया। उसका शव बरामद कर लिया गया है। मृत नक्सली की शिनाख्त की जा रही है। घटनास्थल से एक रायफल भी बरामद की गई है।

सुकमा जिले में आज गश्त के दौरान जिला रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने कोंटा थाने के अंर्तगत कलाईगुड़ा क्षेत्र में आठ किलो वजनी बारूद सुरंग बरामद की। इसे बाद में निष्क्रिय किया गया।

छत्तीगसढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र के सात जिलों और राजनांदगांव जिले के 18 विधानसभा सीटों के लिए सोमवार 12 नबंवर को मतदान होगा। वहीं 72 अन्य सीटों के लिए 20 नवंबर को मत डाले जाएंगे। क्षेत्र में नक्सलियों ने चुनाव का विरोध किया है तथा पिछले 15 दिनों में तीन बड़ी घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING