Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

साइबर सुरक्षा पर ऑनलाइन सेमिनार का आयोजन

webdunia
बुधवार, 17 नवंबर 2021 (21:09 IST)
भारत में 90 प्रतिशत स्कूली विद्यार्थियों को सोशल मीडिया अकाउंट संचालित करने के लिए न्यूनतम आयु की जानकारी तक नहीं है।

केन्द्रीय विद्यालय नंबर-1 गोलकुंडा, हैदराबाद द्वारा 13 नवंबर 2021 को साइबर जागृति दिवस के अवसर पर 'साइबर सुरक्षा' पर एक ऑनलाइन सत्र का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय स्तर के साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ और प्रशिक्षक प्रो. गौरव रावल इस कार्यक्रम के वक्ता थे। 
 
उन्होंने छात्रों को साइबर अपराध के विभिन्न कारणों और रोकथाम के बारे में बताया। सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर विद्यार्थियो को सुरक्षा और गोपनीयता के पहलुओं के बारे में बताया गया। साथ ही ऑनलाइन लेन-देन, संचार में आसानी, फ़िशिंग और भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000/2008 तथा साइबर अपराध से प्रभावी ढंग से निपटने में भारतीय कानून एजेंसियों के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में बहुत गहराई से बताया। 
 
उन्होंने साइबर अपराध में नवीनतम तरीकों जैसे साइबरस्टॉकिंग, साइबरबुलिंग, जूस जैकिंग, फोटो मॉर्फिंग, मालवेयर पर भी व्यापक रूप से चर्चा की। विद्यार्थियो ने आईटी अधिनियम 2000 की विभिन्न धाराओं जैसे 66, 67, 67-ए, 67-बी और आईपीसी के तहत क्रमशः 354 सी, 354 डी और 509 के बारे में सीखा है।
 
उन्होंने साइबर ग्रूमिंग पर संक्षेप में चर्चा की और बताया गया कि लोग साइबर चोरों से खुद को कैसे सुरक्षित कर सकते हैं। इसके बाद प्रो. गौरव रावल ने सभी से अनुरोध किया कि कृपया अपने सोशल नेटवर्किंग प्रोफाइल (जैसे फेसबुक, ट्विटर, आदि) निजी पर सेट हैं। बार-बार अंतराल के भीतर सुरक्षा सेटिंग्स की जांच करें।
 
उन्होंने कहा कि हम किस तरह की जानकारी ऑनलाइन पोस्ट और सर्च के बारे में अधिक सावधान रहें। उन्होंने यह भी बताया कि गूगल पर नकली टैक सपोर्ट से सावधान रहें। ईमेल की जानकारी प्राप्त करें और अपनी इंटरनेट गतिविधि को गोपनीय बनाए रखें तथा अपने सभी बिसिनेस और पर्सनल आईडी के लिए एक मजबूत पासवर्ड बनाएं और हमेशा रजिस्टर्ड ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करें।

प्रोफेसर गौरव रावल बताया कि किसी भी तरह के साइबर फ्रॉड किया ठगी होने पर तुरंत स्थानीय पुलिस को इसकी रिपोर्ट करें या www.cybercrime.gov.in के माध्यम से ऑनलाइन रिपोर्ट करें या हेल्पलाइन 155260 पर कॉल करें। उन्होंने ऑनलाइन सामना किए जाने वाले सामान्य मुद्दों और सुझाए गए समाधानों के बारे में चर्चा की। इसके बाद श्रोताओं के प्रश्नों का समाधान किया गया।

सत्र में केन्द्रीय विद्यालय नंबर -1 गोलकुंडा, हैदराबाद के छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया और अच्छी प्रतिक्रिया दी। सत्र का नेतृत्व प्रभारी प्राचार्य वी. सुरेंद्र ने किया और कार्यवाहक प्रधानाचार्य सुश्री जया राजप्पन द्वारा डिजाइन किया गया, पीजीटी सीएस सुश्री एन. सुमा भी वेबिनार में उपस्थित थीं। वेबिनार का संचालन कम्प्यूटर इंस्ट्रक्टर सुश्री ऋचा तिवारी ने किया।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

लोगों को अयोध्या यात्रा करवाएंगे कांग्रेस विधायक, BJP ने कहा- भगवान राम ने दी सद्‍बुद्धि