योगी सरकार का बड़ा फैसला, कानपुर में सिख विरोधी दंगों की जांच के लिए एसआईटी गठित

बुधवार, 6 फ़रवरी 2019 (11:15 IST)
लखनऊ। कानपुर में वर्ष 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों की जांच के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने पूर्व पुलिस महानिदेशक अतुल की अध्यक्षता में चार सदस्यीय एसआईटी गठित की है।
 
प्रदेश सरकार ने मंगलवार के गठित इस विशेष जांच दल को मामले की जांच पूरी करने के लिए छह महीने का समय दिया गया है। एसआईटी को इसी अवधि में अपनी रिपोर्ट प्रदेश सरकार को सौंपनी है।
 
प्रमुख सचिव, गृह अरविंद कुमार ने बताया कि उच्चतम न्यायालय ने मनजीत सिंह की याचिका पर सरकार को कानपुर के बजरिया और नजीबाबाद इलाकों में सिख विरोधी दंगों को दौरान दर्ज हुए मामलों की जांच के लिए एसआईटी के गठन के निर्देश दिए थे।
 
कुमार के मुताबिक एसआईटी उन मुकदमों की दोबारा विवेचना करेगी, जिनमें साक्ष्यों के अभाव में अंतिम रिपोर्ट लगा दी गई थी। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख CEO की मौत के साथ ही लॉक हुई अरबों की क्रिप्टोकरेंसी, निवेशकों को लगा बड़ा झटका