Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

अगले मिशन ओलंपिक के लिए भारतीय सेना के 450 से ज्यादा खिलाड़ियों ने शुरू कर दी ट्रेनिंग

webdunia
गुरुवार, 12 अगस्त 2021 (13:23 IST)
नई दिल्ली: भारतीय सेना के ‘मिशन ओलंपिक विंग’ के तहत 450 से अधिक सीनियर खिलाड़ी फिलहाल ट्रेनिंग कर रहे हैं। वरिष्ठ अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। मई 2016 में सेना से जुड़ने के बाद भाला फेंक के खिलाड़ी नीरज चोपड़ा को मिशन ओलंपिक विंग के तहत ट्रेनिंग करने के लिए चुना गया।

उन्होंने टोक्यो 2020 ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता। मिशन ओलंपिक विंग भारतीय सेना की पहल है, जिसमें 11 खेलों के प्रतिभावान खिलाड़ियों की पहचान करने के अलावा उन्हें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए ट्रेनिंग दी जाती है।
 
सेना के अधिकारियों के अनुसार मिशन ओलंपिक विंग के पांच वर्ग हैं जिसमें रोइंग (नौकायन), मार्क्समैनशिप (निशानेबाजी), घुड़सवारी, सेलिंग (पाल नौकायन) और सेना खेल संस्थान (एएसआई) शामिल हैं। अधिकारियों ने कहा कि एएसआई में सात खेलों के 200 से अधिक खिलाड़ी ट्रेनिंग ले रहे हैं जिसमें तीरंदाजी, एथलेटिक्स, मुक्केबाजी, कुश्ती, भारोत्तोलन, तलवारबाजी और गोताखोरी शामिल हैं।
 
मार्क्समैनशिप वर्ग के अंतर्गत लगभग 100 निशानेबाज ट्रेनिंग ले रहे हैं। रोइंग, सेलिंग और घुड़सवारी के अंतर्गत क्रमश: लगभग 90, 50 और 10 सीनियर खिलाड़ी ट्रेनिंग ले रहे हैं। अधिकारियों ने बताया कि टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले भारतीय दल में सेना के 16 सैनिक शामिल थे।
 
23 साल के सूबेदार नीरज चोपड़ा ने शनिवार को भाला फेंक में 87।58 मीटर की दूरी तय करके ओलंपिक की ट्रैक एवं फील्ड स्पर्धा में पदक के भारत के 100 साल के इंतजार को खत्म किया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सशस्त्र सेनाओं ने शनिवार को चोपड़ा की सराहना करते हुए कहा था कि उन्होंने ‘सच्चे सैनिक’ की तरह प्रदर्शन करके देश को गौरवांवित किया है।
 
टोक्यो ओलंपिक में सेना से 19 खिलाड़ियों ने लिया था भाग 
 
थल सेना: अमित पंघल (बॉक्सिंग), मनीष कौशिक (बॉक्सिंग), सतीश कुमार (बॉक्सिंग), तरुणदीप राय (तीरंदाज), संदीप कुमार (एथलेटिक्स), गुरप्रीत सिंह (एथलेटिक्स), अविनाश सेबल (एथलेटिक्स), नीरज चोपड़ा (एथलेटिक्स), अर्जुन लाल और अरविंद सिंह (नौकायन), विष्णु सरवनन (नौकायन), प्रवीण जाधव (तीरंदाजी)
webdunia
वायु सेना: शिवपाल सिंह (जेवलिन थ्रो), दीपक कुमार (एयर रायफल), अशोक कुमार (रेसलिंग कम्पटीशन रेफ़री), नोह निर्मल टॉम (400 मीटर रिले), एलेक्स एंथोनी (400 मीटर मिक्स्ड रिले)
 
जल सेना: तेजिंदर पाल सिंह (गोला फेंक), मोहम्मद अनस (4 x 400 मीटर रिले), जाबीर (400 मीटर हर्डल्स)
 
इसमें से लाल और अरविंद सिंह नौकायन में फाइनल तक पहुंचे लेकिन पदक लेने में नाकाम रहे। अमित पंघल, मनीष कौशिक और सतीश कुमार नें मुक्केबाजी में निराश किया लेकिन सतीश कुमार रिंग में अपने चहरे पर 11 टीकों के साथ उतरे थे।
webdunia

तीरंदाज तरुणदीप रॉय ने रोमांचक मुकाबले में पुरुषों के व्यक्तिगत वर्ग के दूसरे दौर में अपने से कम रैंकिंग के इजराइली खिलाड़ी इताय शैनी से ‘शूट ऑफ’ में 5-6 से हार गये। जाबीर हो या फिर अंतिम समय में क्वालिफाय करने वाले तेजिंदर पाल सिंह, एथलेटिक्स में भारत को लगातार निराशा मिल रही थी जिसको अंतिम दिन सूबेदार नीरज चोपड़ा ने 87.58 मीटर तक भाला फेंक कर तोड़ा।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

लॉर्ड्स टेस्ट खेलकर यह रिकॉर्ड पा सकते थे ब्रॉड, सीरीज से बाहर होने पर इंस्टा पर लिखी भावुक पोस्ट