Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जामा मस्जिद इमाम को हटाने के लिए धमकी भरा पत्र

हमें फॉलो करें webdunia

हिमा अग्रवाल

गुरुवार, 8 सितम्बर 2022 (11:12 IST)
बरेली। इबादतगाह के बाहर जामा मस्जिद के इमाम को हटाने के लिए जान से मारने की धमकी और बम रखे जाने का पत्र देखकर आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने बरेली की जामा मस्जिद पर पहुंच कर अपनी जांच शुरू कर दी है।
 
बरेली की जामा मस्जिद के बाहर दीवार पर एक पत्र चस्पा किया गया है, जिसमें लिखा हुआ है कि यदि मस्जिद के इमाम को हटाया नहीं जायेगा, तो शुक्रवार यानी जुमे की नमाज के दिन मस्जिद के अंदर बम रख दिया जायेगा। इमाम के खिलाफ इस पत्र को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है और मामले की जांच कर रही है, हालांकि पुलिस इसे किसी की शरारत मान रही है। 
 
धमकी भरे पत्र को गंभीरता से भी लेते हुए आसपास के सीसीटीवी को खंगाल रही है, जिससे यह जानकारी हो पायें कि ये पत्र किसने लगाया हे और क्यों लगाया है। पुलिस ने इस मामले में कुछ युवकों को हिरासत में भी लिया है और पूछताछ कर रही है।
 
बरेली किला थाना स्थित जामा मस्जिद के इमाम खुर्शीद आलम को आसपास के लोगों ने बताया कि मस्जिद के बाहर दीवार पर एक पत्र चिपका है, जिसमें जिक्र किया गया है कि इमाम को हटा दे, वरना अंजाम के लिए तैयार रहे। इस मामले की शिकायत इमाम खुर्शीद ने शाही जामा मस्जिद कमेटी से की है।
 
कमेटी ने इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए स्थानीय पुलिस से शिकायत की है और आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए जांच प्रराम्भ कर दी है।
 
किला थाना क्षेत्र में स्थित जामा मस्जिद है जो बरसों पुरानी है। यहां 2013 से खुर्शीद आलम मस्जिद में इमाम रहते हुए लोगों को दीनी तालीम भी दे रहे है। खुर्शीद के मुताबिक जब वह मदरसे में बच्चों को पढ़ाने के लिए गये तो उनके पास फोन आया। फोन करने वाले शुभचिंतक ने उन्होंने बताया कि मस्जिद की दीवार के बाहर धमकी भरा पत्र चिपका हुआ है।
 
मस्जिद पर जाकर इमाम ने पत्र पढ़ा तो उन्हें हंसी आ गई, इमाम ने लोगों को समझाया कि यह किसी की शरारत है, जिसने भी यह किया है वह जायज नही है। मस्जिद में बम रखने का ख्याल बहुत गलत है, मस्जिद इबादतगाह है, अल्लाह का घर है, उसकी हिफाजत करना हर मुसलमान का फर्ज है। जिसने ऐसा सोचा वह अल्लाह का गुनहगार है।
 
खुर्शीद का कहना है कि मेरा किसी से बैर और जातिय दुश्मनी भी नही है। इस पत्र की जानकारी जामा मस्जिद के सेक्रेटरी को दे दी गई है। मेरे से बैर भाव रखने वाले ने मस्जिद में बम रखने की बात पत्र में.लिखी है, मस्जिद में बम सिर्फ मुझे (इमाम) को हटाने के लिए रखने की बात कहना मेरे लिए बहुत तकलीफ देह है।
 
पुलिस के मुताबिक जामा मस्जिद के बराबर वाली बिल्डिंग पर कुछ इस तरह का पोस्टर लगाया है, जिससे की माहौल खराब हो सकता है। इसलिए हमने तुरंत कार्रवाई करते हुए अज्ञात में मुकदमा पंजीकृत किया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

एयरपोर्ट पर महंगा पड़ा मजाक, फ्लाइट में चढ़ने से रोका