Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Vastu Tips : दुकान का मुख हो नैऋत्य दिशा में तो क्या करना चाहिए, जानिए 5 वास्तु टिप्स

webdunia

अनिरुद्ध जोशी

दुकान का मुख किस दिशा में है और दुकान का वास्तु कैसा है इसी से आपके व्यापार की उन्नति तय होती है। यदि आपकी दुकान की पश्चिम दक्षिण में है या दुकान नैऋत्यमुखी है तो जानिए वास्तु के 5 टिप्स।
 
 
नैऋत्यमुखी दुकान ( Nairitya mukhi dukan ka vastu ) :
1. नैऋत्य मुखी दुकान में दक्षिण और पश्चिम का प्रभाव रहता है। इस तरह की दुकान के द्वार पर किसी व्यक्ति को नियुक्त कर दें तो ग्राहकों को मुस्कुराकर स्वागत करें।
 
2. कहते हैं कि नैऋत्य मुखी दुकान शस्त्रों एवं उपयोगी वस्तुओं की ठीक रहती है। इसके द्वार को अच्‍छे से रखना रखना चाहिए। गंदा या टूटा फूटा नहीं होना चाहिए।
 
3. द्वार पर थोड़ा भारी सामान रखना चाहिए और ज्यादा बिकने वाले सामान का डिस्प्ले लगाना चाहिए।
 
4. दुकान के मालिक का बैठने का स्थान इस प्रकार हो कि मुख पूर्व या उत्तर में रहें।
 
5. यदि निरंतर धूप बनी रहती है तो शटर के उपर या द्वार के उपर एक हरे रंग का बड़ा-सा शेड लगाए जिससे दुकान के भीतर तक धूप ना आए। लगातार आ रही धूप से बचाना चाहिए।
 
यदि दुकान किसी मार्केट में है यानी दुकान के सामने की लाइन में भी दुकानें हैं, तो ऐसी नैऋत्य मुखी दुकान अशुभ नहीं मानी जाती है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

शुक्र-मंगल की युति कुछ राशि वालों को करेगी परेशान, कुछ राशियां होंगी मालमाल