क्या वाकई राहुल गांधी, राजीव गांधी के बेटे नहीं हैं...जानिए वायरल खबर का सच...

गुरुवार, 24 जनवरी 2019 (16:03 IST)
लोकसभा चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहा है, सोशल मीडिया पर भी हलचल तेज हो गई है। पार्टियों के आईटी सेल और समर्थक सुपर एक्टिव मोड में आ गए हैं और जमकर अपनी पार्टी का प्रचार और दूसरों का दुष्प्रचार करने में लगे हुए हैं। इसके लिए वे कई बार फेक न्यूज, फोटो या वीडियो का भी सहारा ले लेते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से संबंधित एक न्यूजपेपर क्लिप सोशल मीडिया पर इन दिनों वायरल हो रहा है। वायरल न्यूजपेपर क्लिप में लिखा गया है कि अमेरिका में रहने वाले डीएनए विशेषज्ञ डॉक्टर मार्टिन सिज़ो ने दावा किया है कि राहुल गांधी राजीव गांधी के बेटे नहीं हैं।

 
क्या है वायरल न्यूजपेपर क्लिप में? 
वायरल न्यूजपेपर क्लिप में ‘अमेरिकी डीएनए विशेषज्ञ का दावा राजीव गांधी के बेटे नही है राहुल’ हेडलाइन के साथ एक न्यूज रिपोर्ट में लिखा गया है–

अमेरिका में रहने वाले डीएनए विशेषज्ञ डॉक्टर मार्टिन सिज़ो ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके चौंकाने वाला दावा किया है, डॉ मार्टिन का कहना है कि उनके पास राजीव गांधी और राहुल गांधी का डीएनए है, और दोनों आपस में मैच नही होता है। डॉ मार्टिन ने कहा कि वो भारत आकर सारे सबूत भी देने को तैयार है जिस से साबित भी हो जाएगा कि राहुल राजीव गांधी के बेटे नही है। कांग्रेस पार्टी ने डॉ मार्टिन के दावे पर फिलहाल चुप्पी साध ली है। कोई भी कांग्रेस नेता इस मामले पर कुछ बोलने को तैयार नही है।

वायरल पेपर कटिंग को शेयर कर लोग लिख रहे हैं-




क्या है सच?
जब हमने सोशल मीडिया पर वायरल इस न्यूजपेपर कटिंग की पड़ताल की, तो हमें इस पेपर क्लिप के बारे में कुछ पता नहीं चला। फिर इंटरनेट पर सर्च करने पर हमें इस खबर से जुड़ी अन्य कोई भी न्यूज रिपोर्ट भी नहीं मिली। अगर किसी डॉक्टर ने ऐसा कोई दावा किया होता, तो यह बहुत बड़ी खबर थी, जिसे सभी अखबार, टीवी और न्यूज पोर्टल भी कवर करते।

इसके बाद हमने वायरल खबर में दिए गए डॉक्टर का नाम भी सर्च किया, लेकिन हमें इंटरनेट पर ऐसा कोई नाम नहीं मिला।

वेबदुनिया ने अपनी पड़ताल में वायरल न्यूजपेपर क्लिप और उसके दावे को फर्जी पाया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख भारतीय गणतंत्र दिवस का इतिहास, जानिए कैसे लागू हुआ भारत का संविधान