Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

Astrology : व्यापार में सफलता और बरकत के अचूक उपाय

हमें फॉलो करें Astrology : व्यापार में सफलता और बरकत के अचूक उपाय
व्यापार में सफलता पाना हर बिजनेसमैन का ख्वाब होता है तथा वह इसे पूरा करने के लिए अपनी जी-जान भी लगा देता है। इसके बावजूद भी कई लोग न ही व्यापार में सफल होते हैं और बरकत भी उनके घर से कोसों दूर चली जाती है। यदि आप भी कुछ इस तरह की समस्या से गुजर रहे हैं तो यह लेख आपके लिए काफी उपयोगी साबित हो सकता है। 
 
आइए जानते हैं व्यापार में सफलता पाने और बरकत बढ़ाने के 5 खास एस्ट्रो उपाय-
 
1. टपकते नल को जल्दी से ठीक करवा लें, क्योंकि नल से पानी का टपकना व्यापार में असफलता तथा घर से बरकत जाने का संकेत है। इतना ही नहीं इससे आर्थिक क्षति का सामना भी करना पड़ सकता है। 
 
2. नहाने के पश्चात बॉथरूम तथा टॉयलेट को गीला न छोड़ें, आर्थिक स्थिति अच्छी बनाए रखने के लिए इनका सूखा होना बहुत जरूरी है। अत: इनके प्रयोग के बाद तुरंत ही इन्हें सुखाना चाहिए। 
 
3. यदि आप व्यापार में सफलता, बरकत के साथ अपार धन पाने की इच्छा रखते हैं तो प्रतिदिन हनुमान जी पूजा करें, हनुमान चालीसा का कम से कम 5 बार पाठ करें तथा अपने द्वारा जाने-अनजाने में किए गए पापों की क्षमा मांगते हुए धर्म के मार्ग पर चलें, निश्‍चित ही आपको सफलता मिलेगी। 
 
4. प्रति मंगलवार तथा शनिवार के दिन पीपल वृक्ष में काले तिलयुक्त कच्चा दूध तथा जल मिलाकर चढ़ाएं तथा सायं में पीपल वृक्ष के नीचे सरसों के तेल का दीया जलाएं। इससे दुर्भाग्य दूर होकर घर में बरकत का आगमन होगा तथा व्यापार में सफलता मिलने लगेगी।
 
5. यदि आपके घर में भी हर रोज कलह या लड़ाई-झगड़ा हो रहा हो तो आपस में ही बात करके मामले को सुलझाएं, क्योंकि घर में रोज की किचकिच से जहां घर का माहौल खराब होता हैं, वहीं घर में नकारात्मक वातावरण होने के कारण आर्थिक समृद्धि दूर होती जाती है तथा वैभव-ऐश्वर्य का नाश होता जाता है। 

अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। वेबदुनिया इसकी पुष्टि नहीं करता है। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।


webdunia


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Yogini ekadashi 2023: योगिनी एकादशी पर कैसे करें पूजा और व्रत