अनिरुद्ध जोशी

ज्योतिष, धर्म और योग के अलावा समसामयिक विषयों पर लेखन
सूर्य के एक राशि से दूसरी राशि में जाने को ही संक्रांति कहते हैं। एक संक्रांति से दूसरी संक्रांति की अवधि ही सौर मास...
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। यह पांच दिन चलने वाले दीपावली उत्सव...
ग्रह सोया है तो मेहनत करने के बाद भी सफलता नहीं मिलेगी। लाल किताब के अनुसार किसी की कुंडली में दो तरह की स्थिति होती...
मथुरा नगरी से लगभग 26 किलोमीटर दूर गोवर्धन परिक्रमा में राधा कुंड नाम एक स्थान आता है जो कि परिक्रमा का प्रमुख पड़वा...

स्कंद षष्ठी व्रत का महत्व

शुक्रवार, 18 अक्टूबर 2019
शिव और पार्वती के पुत्र कार्तिकेय को स्कंद कहा गया है। कुछ लोग आषाढ़ माह की शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को स्कंद षष्ठी मानते...
भगवान श्रीराम अपना 14 वर्ष का वनवास पूरा करने के बाद पुन: लौट आए थे। कहते हैं कि वे सीधे अयोध्या न जाते हुए पहले नंदीग्राम...
ज्योतिष के अनुसार वैसे तो पुष्‍य नक्षत्र बहुत ही शुभ दिन होना है लेकिन कुछ स्थिति में इस दिन कुछ कार्य वर्जित माने गए...
कार्तिक माह की कृष्‍ण अष्टमी को अहोई माता का व्रत रखा जाता है। कहते हैं कि अहोई का अर्थ अनहोनी को को होनी बनाना होता...
दिवाली की छुट्टियां हर कार्यालय और स्कूल में अलग-अलग तरह से मिलती है। कुछ अतिरिक्त छुट्टियां लेकर दिवाली पर कुछ नया...
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। यह पांच दिन चलने वाले दीपावली उत्सव...
दीपावली पर अकसर चारों ओर दीपक जलाए जाते हैं। घर के हर कोने में दीपक जलाए जाते हैं। दिपावली के दिन लक्ष्‍मी की पूजा करने...
दीपावली के 5 दिनी उत्सव में माता कालिका की पूजा दो बार होती है। एक नरक चतुर्दशी पर जिसे काली चौदस कहते हैं और दूसरी दिवाली...
दीवावली का उत्सव धनतेरस से प्रारंभ होता है और भाई दूज पर समाप्त होता है। इस बीच बहुत से पूर्व आते हैं जिनमें महत्वपूर्ण...
दिपावली के पांच दिनी उत्सव में नरक चतुर्दशी धन तेरस के बाद मनाई जाती है। इसे रूप चौदस भी कहते हैं। मान्यता के अनुसार...
ऋग्वेद में पुष्य नक्षत्र को मंगलकर्ता भी कहा गया है। इसीलिए पुष्य नक्षत्र को खरीदारी के लिए विशेष मुहूर्त माना जाता...
हिंदू कालगणना का आधार नक्षत्र, सूर्य और चंद्र की गति पर आधारित है। इसमें नक्षत्र को सबसे महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त है।...
क्या कुवांरी लड़कियों को भी करवा चौथ का व्रत रखना चाहिए या नहीं? यदि हां, तो कुवांरी लड़कियों को कैसे करवा चौथ का व्रत...
करवा चौथ का व्रत बहुत ही कठिन होता है क्योंकि इसमें अन्न और जल ग्रहण तब तक नहीं किया जा सकता जब तक की रात को चांद के दर्शन...
बोधी धर्मन या बोधिधर्म एक बौद्ध भिक्षु थे। बोधिधर्म का जन्म दक्षिण भारत के पल्लव राज्य के कांचीपुरम के राज परिवार में...
तमिलनाडु में कई प्राचीन शहर है जिसमें से एक है महाबलीपुरम जो समुद्र तट पर स्थित है। इस शहर का इतिहास बहुत ही प्राचीन...
अगला लेख Author|अनिरुद्ध जोशी|Webdunia Hindi Page 2