Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

क्‍या आपको कोरोना छूकर निकल गया, कैसे पता करें आपको हो चुका है ‘कोरोना’

webdunia
गुरुवार, 15 अप्रैल 2021 (13:06 IST)
कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में कहर बरपाया हुआ है। अब रोजाना 1 हजार लोगों की मौतें हो रही हैं। लेकिन जिन लोगों को कोरोना नहीं हुआ है, उनके बारे में शोधकर्ताओं का कहना कि कुछ ऐसे संकेत सामने आए हैं, जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि व्यक्ति को कोरोना छूकर निकल गया, लेकिन उन्हें पता भी नहीं चला।

विशेषज्ञों का कहना है कि इसमें से कुछ लक्षण तो लॉन्ग कोविड के रूप में कई महीनों तक बने भी रह सकते हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबि‍क डॉक्टरों और एक्सपर्ट्स का कहना है कि एक अच्छी खासी आबादी ऐसे लोगों की भी है, जिन्हें किसी न किसी तरह से वायरस का इंफेक्शन हुआ, लेकिन उनका टेस्ट पॉजिटिव नहीं आया, या फिर उन्होंने टेस्ट करवाया ही नहीं, क्योंकि उनमें किसी तरह के कोई लक्षण नहीं दिखे।


कोरोना वायरस की इस दूसरी लहर में जहां ज्यादातर मामले सिम्प्टोमैटिक यानी लक्षण वाले हैं, जिसमें सर्दी-जुकाम और बुखार के अलावा पेट दर्द, सिरदर्द, आंखों का गुलाबी हो जाना आदि लक्षण देखने को मिल रहे हैं। जबकि पिछली बार एसिम्प्टोमैटिक यानी बिना लक्षण वाले मरीज ज्यादा थे।

आइए जानते हैं क्‍या लक्षण हो सकते हैं जिनसे पता चलाया जा सकता है कि आपको एक बार तो संभवतर: कोरोना का इन्‍फेक्‍शन हो चुका है।

रेड या पिंक आई
आमतौर पर वायरल की वजह से आंखें लाल हो जाती हैं या कंजंक्टिवाइटिस हो सकता है। लेकिन आंखों का लाल होना, पानी आना कोविड-19 का संकेत भी हो सकता है। हालांकि कोरोना होने पर आंखें लाल होने के साथ बुखार या सिरदर्द भी हो सकता है।

थकान
बहुत ज्यादा थकान महसूस होना भी कोरोना का एक लक्षण हो सकता है। आपको ज्यादा थकान हो रही है। पूरे शरीर में दर्द है और यह भी 3-4 दिनों तक रहता है तो आपको कोरोना इंफेक्शन हुआ था, लेकिन पता नहीं चला।

ब्रेन फॉग
कोरोना संक्रमण की वजह से लोगों की याद्दाश्त पर भी बुरा असर पड़ रहा है। इसके अलावा कुछ लोगों को कन्फ्यूजन, असंतुलन और कॉन्सन्ट्रेट करने में दिक्कत जैसी समस्याएं भी आ रही हैं। इस स्थिति को मेडिकल टर्म में ब्रेन फॉग कहा जाता है। आप चीजें याद नहीं रख पा रहे हैं तो यह भी कोरोना संक्रमण के कारण हो सकता है।

स्‍टमक प्रॉब्‍लम
कोरोना संक्रमण सिर्फ श्वसन तंत्र को ही नहीं बल्कि पाचन तंत्र को भी प्रभावित कर रहा है। एक रिसर्च में सामने आया है कि कई लोग हैं जिन्हें कोरोना से संक्रमित होने के बाद न तो सर्दी-जुकाम हुआ और ना ही बुखार। उनमें डायरिया, जी मचलने, पेट में ऐंठन और भूख न लगने जैसे लक्षण सामने आए।

ब्रि‍दिंगप्रॉब्‍लम
सांस फूलना या सांस लेने में दिक्कत होना भी कोरोना वायरस से जुड़ा लक्षण है। सीने में जकड़न और भारीपन महसूस हुआ हो, दिल की धड़कन बढ़ गई हो तो इसे भी कोरोना इंफेक्शन का संकेत माना जा सकता है।

नोट: यह सब रि‍सर्च और डॉक्‍टरों के बयानों के आधार पर है, वेबदुनिया डॉट कॉम इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है और न ही इसके लिए जिम्‍मेदार है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

क्या पेटेंट मुक्त होगी कोरोना वैक्सीन, भारत के प्रस्ताव पर अमेरिका की चुप्पी