Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

गणतंत्र दिवस हिंसा : लालकिले की गुंबद पर चढ़ने वाला व्यक्ति गिरफ्तार

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
सोमवार, 22 फ़रवरी 2021 (21:58 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के दौरान लालकिले के गुंबद पर चढ़ने वाले 29 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। जसप्रीत सिंह नाम का यह शख्स पिछले मंगलवार को गिरफ्तार मनिंदर सिंह का सहयोगी है। मनिंदर पर इस ऐतिहासिक स्मारक पर प्रदर्शनकारियों को प्रेरित और आक्रोशित करने के लिए तलवार लहराने का आरोप है।

उत्तर पश्चिम दिल्ली के स्वरूप नगर में रहने वाले जसप्रीत सिंह को अपराध शाखा के दल ने शनिवार को गिरफ्तार किया था। केंद्र के तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की मांग को लेकर 26 जनवरी को किसान संघों द्वारा आयोजित ट्रैक्टर परेड के दौरान हजारों प्रदर्शनकारी पुलिस से भिड़ गए थे।

कई प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर चलाते हुए लालकिले तक पहुंच गए थे और स्मारक में घुस गए। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने लालकिले के ध्वज स्तंभ पर एक धार्मिक झंडा भी फहराया था। एक अधिकारी ने कहा, जसप्रीत सिंह वह शख्स है जो आरोपी मनिंदर सिंह के पीछे खड़ा था और लालकिले की प्राचीर के दोनों तरफ स्थित गुंबदों में से एक पर चढ़ा था। उन्होंने कहा कि एक तस्वीर में वह लालकिले पर आक्रामक मुद्रा में भी नजर आ रहा है।

पुलिस के मुताबिक मनिंदर सिंह (30) ने पड़ोस में रहने वाले छह लोगों को सिंघू बॉर्डर से मुकरबा चौक की तरफ आने वाली ट्रैक्टर परेड में आने के लिए प्रेरित किया था। पुलिस ने कहा कि जसप्रीत सिंह एक सहयोगी था और उसकी पहचान तस्वीरों और वीडियो से हुई जिसमें वह मनिंदर सिंह के पीछे खड़ा नजर आ रहा था।

पुलिस ने बताया कि कार के एसी मेकैनिक के तौर पर काम करने वाले मनिंदर सिंह को पिछले हफ्ते उत्तर पश्चिम दिल्ली के पीतमपुरा से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के मुताबिक मनिंदर सिंह को एक वीडियो में लालकिले पर दो तलवारें लहराते हुए देखा गया जिसका मकसद हिंसक राष्ट्र विरोधी तत्वों को ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों पर बर्बर हमले के लिए प्रेरित और उद्वेलित करना था।

पुलिस ने कहा था कि मनिंदर सिंह विभिन्न समूहों के भड़काऊ फेसबुक पोस्ट देखने के बाद कट्टरपंथ की तरफ झुका। पुलिस के मुताबिक वह अक्सर सिंघू बॉर्डर जाता था और वहां नेताओं द्वारा दिए जाने वाले भाषणों से बेहद प्रेरित था।(भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
चमोली आपदा : 3 और शव मिले, 134 लोग अभी भी लापता, झील की निगरानी के लिए SDRF ने लगाया QDA सिस्टम