Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

3 देशों की नागरिकता, 8 कंपनियां, एलन मस्‍क के पास नहीं है घर, किराये पर रहते हैं, अब हैं ट्विटर के मालिक

हमें फॉलो करें elon musk
शुक्रवार, 28 अक्टूबर 2022 (12:55 IST)
दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क (Elon Musk) ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर को खरीदने की डील पूरी कर दी है। अब वे ट्विटर के मालिक बन गए हैं। लेकिन जानकर हैरानी होगी कि उनके पास अपना खुद का घर नहीं है। आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ दिलचस्‍प बातें।

टेस्‍ला के फाउंडर एलन मस्‍क को कौन नहीं जानता, लेकिन इस बार वे दूसरी वजह से चर्चा में हैं। दरअसल, एलन मस्क को टाइम मैगजीन ने पर्सन ऑफ द ईयर चुना है। मैगजीन के मुताबिक, दुनिया के सबसे अमीर आदमी के पास अपना घर तक नहीं है, लेकिन उनकी पहुंच अंतरिक्ष तक है। बता दें कि 50 साल एलन मस्‍क एक टेक्‍नोलॉजी मैग्‍नेट हैं।

उनकी सक्‍सेस स्‍टोरी भी बेहद दिलचस्‍प है। एलन मस्‍क की शुरू से दिलचस्‍पी कम्‍प्‍यूटर और प्रोग्रामिंग आदि में थी। अपने इसी जुनून के चलते उन्‍होंने सिर्फ 12 साल की उम्र में साइंस फिक्‍शन पर आधारित एक वीडियो गेम बना डाला था। बाद में उन्‍होंने अपने इस गेम को एक कंपनी को बेच दिया, जिसके बदले उन्‍हें 37 हजार रुपए मिले थे। यानि मस्‍क की पहली कमाई 37 हजार रुपए थे।

तकनीक से उनके लगाव का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्‍होंने 9 साल की उम्र में पूरी Encyclopedia Britannica पढ़ ली थी। कम्‍प्‍यूटर कोडिंग सीख ली। ब्‍लास्‍टर नाम का वीडियो गेम बना दिया। ये भी कहा जाता है कि उनके दोस्‍त उन्‍हें स्‍कूल में बहुत पीटते थे, इसी से बचने के लिए एलन मस्‍क  ने 15 साल की उम्र में मार्शल आर्ट्स सीखा।

अब खबर है कि एलन मस्‍क अपनी कई प्रॉपर्टी बेच रहे हैं। इनमें उनका घर भी शामिल है। अब मस्‍क के पास कोई घर नहीं है, वो रेंट पर रहते हैं। ऐसा क्‍यों किया, इस सवाल के जवाब पर मस्‍क का कहना है, वो 2050 तक 10 लाख लोगों को मंगल ग्रह पर भेजना चाहते हैं। वहां कॉलोनी बसाना चाहते हैं। इसलिए वो प्रॉपर्टी को बेच रहे हैं। वह कहते हैं, भविष्‍य में भी वो अपने पास कोई घर नहीं रखना चाहते हैं।

मस्क का जन्म दक्ष‍िण अफ्रीका के प्रीटोरिया में 28 जून 1971 को हुआ था। वह 17 साल की उम्र में कनाडा चले गए और क्‍वींस यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया, लेकिन दो साल बाद यहां से ट्रांसफर लेकर पेन्‍स‍िवेनिया यूनिवर्सिटी से अपना ग्रेजुएशन पूरा किया और आगे की पढ़ाई के लिए कैलिफोर्निया चले गए।

इनके पास दक्षिण अफ्रीका, कनाडा और अमेरिका की नागरिकता है। जिन कंपनियों की मस्‍क ने शुरुआत की, उनमें टेस्‍ला, स्‍पेसएक्‍स, हायपरलूप, ओपनएआई, न्‍यूरालिंक, द बोरिंग कंपनी, जिन2, पे पल शामिल हैं।

टाइम मैग्‍जीन में 1927 से पर्सन ऑफ द ईयर चुनने की शुरुआत की थी। इस बार मस्‍क को चुनने की वजह है उनका स्‍पेस टेक्‍नोलॉजी में योगदान देना।
Edited: By Navin Rangiyal

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मुंबई जीआरपी का Twitter हैंडल हैक, किसी भी नए ट्वीट पर ध्यान न देने की अपील