आतंकी मसूद अजहर के भाई ने किया पाकिस्तान का पर्दाफाश, कहा हवाई हमले से हुई बड़ी बर्बादी

रविवार, 3 मार्च 2019 (12:41 IST)
भारत द्वारा आतंकी ठिकानों पर किए गए हमलों को लेकर पाकिस्तान भले ही यह कह रहा हो कि वायुसेना के विमानों ने पाकिस्तान के पेड़ों को नुकसान पहुंचाया है, लेकिन जैश के सरगना मसूद अजहर के छोटे भाई मौलाना अम्मार के एक ऑडियो ने पाक के इस झूठ की पोल खोल दी है। इस ऑडियो में मसूद अजहर के छोटे भाई अम्मार ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने को भारत के हवाई हमले से भारी नुकसान हुआ है।
 
इस हमले में अम्मार भारतीय वायुसेना के हमले से हुई तबाही का रोना रो रहा है। इसने पाक के दावों की भी पोल खोल दी है। एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान यह कह रहा था कि भारतीय वायुसेना की कार्रवाई से बालाकोट में पेड़ों के अलावा किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है।
 
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक दिन पहले यह स्वीकार किया था कि आतंकी मसूद पाकिस्तान में ही रह रहा है। मसूद का भाई अम्मार जैश की जिहादी गतिविधियों का हिस्सा है। वह बालाकोट में आतंकी प्रशिक्षण की देखरेख करता था। बालाकोट कैंप के अलावा कई अन्य कैंपों में भी वह कश्मीर के नाम पर युवाओं में नफरत भरने का काम करता है।
इस ऑडियो में अम्मार कह रहा है कि 'दुश्मनों ने इस्लामिक देश में प्रवेश करने के लिए सीमा को पार कर युद्ध की घोषणा की है और मुस्लिम स्कूलों पर बम गिराए हैं, तो अपने हथियार उठाओ और उन्हें दिखा दो कि जिहाद अभी भी एक कर्तव्य है।' खबरों के अनुसार यह ऑडियो बालाकोट पर हुए हवाई हमले के 2 दिनों बाद का है और इसमें अम्मार आतंकियों के पेशावर स्थित 'मदरसा सनान बिन सलमा' में संबोधित कर रहा है। बताया जाता है कि यह ऑडियो एक पाकिस्तानी पत्रकार द्वारा ट्वीट किया गया, जो फ्रांस में रहता है। इस ऑडियो को बाद में भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने सत्यापित भी किया।
 
ऑडियो में अम्मार कह रहा है कि मैं आपको याद दिला दूं कि भारत के लड़ाकू विमानों ने किसी भी एजेंसी के सुरक्षित घरों पर बम नहीं गिराए, उसने किसी मुख्यालय को निशाना नहीं बनाया, उसने एजेंसियों (जैश-ए-मोहम्मद) के मीटिंग पॉइंट पर भी हमला नहीं किया, उसने उन स्कूलों पर हमला किया है, जहां छात्र जिहाद को बेहतर तरीके से समझने के लिए प्रशिक्षित किए जाते हैं और जुल्म सहने वाले कश्मीरियों की मदद की कसम खाते हैं। हमारे क्षेत्र में प्रवेश कर और हमारे स्कूलों को निशाना बना भारत ने उनके खिलाफ जिहाद सुनिश्चित किया है।
 
युवाओं में भारत के खिलाफ नफरत का जहर भरता है अम्मार : मसूद अजहर का भाई अम्मार जैश-ए-मोहम्मद की जेहादी गतिविधियों का हिस्सा है। बालाकोट में चल रही जेहाद की फैक्टरी की देखरेख में भी अम्मार की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। अम्मार जैश के तमाम आतंकी ट्रेनिंग कैंप में कश्मीर के नाम पर युवकों में भारत के प्रति नफरत भरने का काम करता है। (फोटो : मसूद अजहर)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बौखलाया पाकिस्तान भारत के खिलाफ कर सकता है यह गिरी हुई हरकत...