चीन में बढ़ा Corona virus का प्रकोप, मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 259

शनिवार, 1 फ़रवरी 2020 (21:25 IST)
बीजिंग। भारत सहित विभिन्न देश कोरोना वायरस के केंद्र चीन के वुहान शहर में फंसे अपने नागरिकों को निकालने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, वहीं चीन में इस विषाणु से अब तक 259 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 12,000 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं।
ALSO READ: कोरोना वायरस से चीन में 200 लोगों की मौत, 10 हजार पीड़ित, भारत ने मास्क के निर्यात पर लगाया प्रतिबंध
उल्लेखनीय है कि इस विषाणु का दिसंबर की शुरुआत में पता चला था और इसके हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान स्थित बाजार से फैलने की आशंका है, जहां पर मांस के लिए जंगली जानवरों की बिक्री होती है। कोरोना वायरस भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, रूस और स्वीडन सहित 2 दर्जन देशों में फैल चुका है। भारत में केरल की एक छात्रा में संक्रमण की पुष्टि हुई है।
 
चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने शनिवार को घोषणा की कि 46 और मौतों के साथ कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 259 हो गई है लेकिन 1 मौत पिछले 24 घंटे में हुबेई में हुई है। उन्होंने बताया कि 2,102 नए मामले के साथ कुल संक्रमित लोगों की संख्या 11,791 हो गई है। 21 जनवरी को संक्रमण की रिपोर्टिंग शुरू होने के बाद 1 दिन में मरीजों की संख्या में हुई यह सबसे अधिक वृद्धि है।
 
चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने अपनी नियमित रिपोर्ट में शनिवार को बताया कि 1,795 मरीज नाजुक स्थिति में हैं, वहीं शुक्रवार तक कुल 17,988 लोगों के संक्रमित होने का संदेह है।
 
भारत समेत कई अन्य देशों में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों के 124 मामलों की पुष्टि हुई है। यहां केरल में पहला मामला सामने आया है। भारत, अमेरिका, जापान, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन और बांग्लादेश सहित विभिन्न देशों ने विशेष विमान भेजकर वुहान से अपने नागरिकों को निकाला है।
 
एयर इंडिया का जम्बो बोइंग-747 विमान वुहान से 211 छात्रों और 110 कार्यरत पेशेवरों और 3 नाबालिगों सहित 324 भारतीयों को लेकर शनिवार सुबह नई दिल्ली पहुंचा। एक अन्य विमान शनिवार दोपहर 1 बजकर 47 मिनट पर नई दिल्ली से चीन के शहर के लिए रवाना हुआ।
 
एयर इंडिया के प्रवक्ता ने बताया कि राममनोहर लोहिया अस्पताल के 5 डॉक्टर, जो पहले विमान में सवार थे, दूसरे विमान में भी साथ गए हैं। इस बीच भारतीय सेना ने चीन के हुबेई प्रांत से लाए गए करीब 300 लोगों को पृथक रखने के लिए दिल्ली के निकट मानेसर में एक केंद्र स्थापित किया है, वहीं आईटीबीपी ने भी संदिग्धों को अलग रखने और मूलभूत चिकित्सकीय सेवा मुहैया कराने के लिए दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के छावला इलाके में 600 बिस्तरों की सुविधा वाला पृथक केंद्र स्थापित किया है।
 
उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गुरुवार को संक्रमण को वैश्विक आपदा घोषित किया है लेकिन अंतरराष्ट्रीय कारोबार एवं यात्रा प्रतिबंध लगाने की सलाह नहीं दी है। 'साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट' ने हांगकांग विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्ययन के हवाले से बताया कि वुहान शहर में 75,815 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं।
 
अखबार में कहा गया कि शोधपत्र को 'द लांसेट' में शनिवार को प्रकाशित किया गया है और यह अनुमान प्रत्येक संक्रमित व्यक्ति से औसतन 2.68 नए लोगों को संक्रमण होने के आधार पर लगाया गया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख केनिन ने अपने करियर का पहला ग्रैंड स्लैम जीतकर मुगुरुजा का सपना तोड़ा