आईपीएल 11 : कोलकाता नाइटराइडर्स की जीत के 5 मुख्य कारण

गुरुवार, 24 मई 2018 (00:11 IST)
कोलकाता। कोलकाता नाइटराइडर्स ने बुधवार को गेंदबाजी का शानदार मुजाहिरा पेश करते हुए यहां राजस्थान रॉयल्स को 25 रन से हराकर आईपीएल-11 के दूसरे क्वालीफायर्स में खेलने का हक हासिल किया। कोलकाता की जीत के 5 प्रमुख कारण...
 
 
कोलकाता ने अपने घरू मैदान पर मैच की दूसरी ही गेंद पर सुनील नारायण (4) का विकेट गंवा दिया था लेकिन उसके बाद कप्तान दिनेश कार्तिक ने इस आईपीएल का दूसरा अर्द्धशतक जमाकर पारी को संभाला। उन्होंने 38 गेंदों पर 52 रन ठोंके जिसमें 4 चौके और 2 छक्के शामिल थे। शुभमन गिल ने भी 17 गेंदों पर 28 रन की तेज पारी खेली।
 
आन्द्रे रसेल ने मैदान पर मचाया कोहराम
रसेल ने मैदान पर आते ही कोहराम मचा दिया। ईडन गार्डन पर ही 12 गेंदों में 48 रन की विस्फोटक पारी खेलने वाले रसेल का बल्ला बुधवार को भी आग उगलता रहा। वे 25 गेंदों पर 49 रनों की नाबाद पारी खेलकर स्कोर को 7 विकेट पर 169 रन पर पहुंचाने में कामयाब हुए। रसेल ने अपनी पारी में 3 चौकों के अलावा 5 छक्के उड़ाए। 24 रन पर 3 विकेट और 51 पर 4 विकेट गंवाने वाला कोलकाता सम्मानजनक स्कोर पर पहुंच पाएगा इसकी तो कल्पना किसी ने नहीं की थी।
 
अजिंक्य रहाणे ने जगाई आस, लेकिन जल्दी ही सब धरी की धरी रह गई
राजस्थान ने शुरुआत काफी अच्छी की थी और सलामी बल्लेबाज रहाणे व राहुल त्रिपाठी ने स्कोर को 5.1 ओवर में स्कोर 47 पर पहुंचा दिया था। रहाणे और संजू सैमसन ने जब 14 ओवर में स्कोर 109 तक पहुंचाया, तब भी राजस्थान सुखद स्थिति में था और यहीं पर रहाणे का टाइम आउट लेना महंगा पड़ गया, क्योंकि अगली ही गेंद पर वे कुलदीप यादव को उन्हीं की गेंद पर कैच दे बैठे।
 
संजू सैमसन ने लगाया सीजन की तीसरा अर्द्धशतक
रहाणे ने 41 गेंदों पर 46 रन बनाए। रहाणे ने संजू सैमसन के साथ दूसरे विकेट के लिए 62 रन की साझेदारी निभाई। इसके बाद सारा दबाव संजू पर आ गया। वे मौके की नजाकत को समझ रहे थे लेकिन कोलकाता की अनुशासित गेंदबाजी के आगे बेबस थे। पीयूष चावला ने संजू की पारी (38 गेंदों पर 50 रन) का अंत करके मैच के सारे सूत्र कोलकाता के हाथों में सौंप दिए। संजू ने सीजन की तीसरा और कुल 10वां अर्द्धशतक जड़ा।
 
कर्नाटक के युवा गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा का मैच 'विनिंग ओवर'
16.5 ओवर में 126 पर 3 विकेट गंवाने के बाद राजस्थान पर कोलकाता के गेंदबाजों का दबाव बढ़ता चला गया। कर्नाटक के युवा गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा ने हैरतअंगेज तरीके से 18वां ओवर डाला और केवल 3 रन देकर 1 विकेट हासिल करते हुए कोलकाता की जीत के दरवाजे खोल दिए। उन्होंने इस ओवर में हर गेंद अलग डाली और स्लोवन से बल्लेबाजों को रन लेने की आजादी नहीं दी। राजस्थान की टीम 20 ओवर में 144 रन ही बना सकी और कोलकाता ने यह मैच 25 रनों से जीत लिया।
 
2008 की कहानी नहीं दोहरा सका राजस्थान
ईडन गार्डन पर ही राजस्थान रॉयल्स ने 2008 में कोलकाता नाइटराइडर्स को हराया था लेकिन उसके बाद वह यह कहानी कभी नहीं दोहरा सका। इस मैदान पर दोनों टीमों के बीच अब तक 7 मुकाबले खेले गए हैं जिसमें से 6 में कोलकाता और 1 में राजस्थान जीता है। इस आईपीएल सीजन में 3 मैचों में हर बार कोलकाता ही जीतकर मैदान से बाहर आया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट से अचानक संन्यास लेने वाले एबी डीविलियर्स की 15 प्रमुख बातें