India vs South Africa : पुणे में द. अफ्रीका के खिलाफ सीरीज जीतने पर होगा भारत का प्रहार

बुधवार, 9 अक्टूबर 2019 (19:07 IST)
पुणे। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच गुरुवार से 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला पुणे में खेला जाएगा, जहां भारतीय टीम की नजरें मुकाबला जीत सीरीज अपने नाम करने पर लगी होंगी।
 
भारत ने विशाखापत्तनम में खेले गए पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका की टीम को 203 रनों के बड़े अंतर से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली थी और अब वह यहां होने वाले दूसरे मुकाबले में भी अपना प्रदर्शन बरकरार रख मैच तथा सीरीज जीतने के इरादे से मैदान में उतरेगी। 
 
भारत के लिए सकारात्मक बात है कि उसके दोनों सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने पहले मुकाबले बेहतरीन प्रदर्शन किया था, विशेषकर रोहित ने जो अपने टेस्ट करियर में पहली बार सलामी बल्लेबाज के तौर पर बल्लेबाजी करने उतरे थे। 
 
रोहित ने पहली पारी में 176 और दूसरी पारी में 127 रन बनाए थे जबकि मयंक ने पहली पारी में 215 रन बनाकर अपने टेस्ट करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय दोहरा शतक भी जड़ा था। 
 
दोनों बल्लेबाजों के बीच पहले मैच की पहली पारी में 317 रनों की पहाड़ जैसी साझेदारी हुई थी जिसकी बदौलत भारत ने मैच में शुरुआत से ही अपना पलड़ा भारी कर लिया था। भारत को दूसरे मुकाबले में एक बार फिर अपनी सलामी जोड़ी से ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद होगी जिससे वह मेहमान टीम पर शुरुआत से ही पकड़ मजबूत रखे और उसके गेंदबाजों पर दबाव बनाए। 
 
भारतीय टीम को हालांकि मध्यक्रम में थोड़ी सावधानी बरतनी होगी। पहले मुकाबले की पहली पारी शीर्ष क्रम की मजबूत साझेदारी के बाद मध्क्रम लड़खड़ा गया था लेकिन टीम के लिए राहत की बात है कि चेतेश्वर पुजारा जो पहली पारी में नाकाम रहे थे। 
पुजारा ने दूसरी पारी में अपनी फॉर्म वापस हासिल की और 81 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली। कप्तान विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी और विकेटकीपकर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा को भी मध्यक्रम में अपनी भूमिका अदा करनी होगी।
 
गेंदबाजी भारतीय टीम का मजबूत पक्ष रहा है और पहली पारी में जिस तरह ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने अपनी फिरकी के जादू में दक्षिण अफ्रीका की टीम को बांधा उससे भारतीय गेंदबाजी और मजबूत दिखाई दे रही है जबकि दूसरी पारी में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने 5 विकेट निकालकर मेहमान टीम की कमर तोड़ दी थी, जिससे भारतीय टीम ने एकतरफा अंदाज में यह मुकाबला जीत लिया था।
भारतीय गेंदबाजों के इस प्रदर्शन की टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने भी जमकर सराहना की थी और यहां तक कह दिया था कि टीम को मनमुताबिक पिच की जरुरत नहीं है क्योंकि भारत के तेज गेंदबाज किसी भी पिच पर अपना जलवा बिखेरने का माद्दा रखते हैं।
 
दक्षिण अफ्रीका के पास सीरीज बचाने का यह अंतिम मौका है। अगर वह भारतीय बल्लेबाजों को कम स्कोर में रोकने में सफल रहती हैं तो उनके पास मौका बना रह सकता है। दक्षिण अफ्रीका की टीम को भले ही पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा था लेकिन उन्होंने पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों को खासा परेशान किया था।
 
सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर और विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक ने पहली पारी में अपनी टीम को शुरुआती झटकों से एक समय उबारने की पूरी कोशिश की थी। दोनों बल्लेबाजों की शतकीय पारी की बदौलत भारतीय टीम सिर्फ 71 रन की ही बढ़त हासिल कर पाई थी।
 
दक्षिण अफ्रीका को दूसरे मुकाबले में अपनी बल्लेबाजी में ध्यान केंद्रित करने की जरुरत है, खासकर जिस तरह उसकी टीम का प्रदर्शन दूसरी पारी में रहा उसे देखते हुए कप्तान फाफ डू प्लेसिस को इस क्षेत्र में सुधार की जरुरत है। गेंदबाजी में वेर्नोन फिलेंडर और कैगिसो रबाडा पर मेजबान टीम को रोकने की बड़ी जिम्मेदारी होगी जबकि बल्लेबाजों को भारतीय गेंदबाजी के आगे टिकने की परीक्षा से पार पाना होगा।
Photo courtesy: BCCI

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख हार्दिक पांड्या को महंगा पड़ा जहीर खान का मजाक, सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल