Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जबलपुर में EOW के छापे में ईसाई धर्मगुरु के घर से 1 करोड़ नगद बरामद, स्कूल फीस में गड़बड़ी पर FIR दर्ज

हमें फॉलो करें webdunia

विशेष प्रतिनिधि

गुरुवार, 8 सितम्बर 2022 (12:22 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश के जबलपुर में ईसाई धर्मगुरु के ठिकानों पर ईओडब्ल्यू के छापे में करोड़ों की नगदी बरामद हुई है। ईओडब्लूय की टीम ने आज सुबह ‘द बोर्ड ऑफ एजुकेशन चर्च ऑफ नार्थ इंडिया’ के चेयरमैन बिशप पीसी सिंह के घर और ऑफिस पर एक साथ छापामार कार्रवाई की। अब तक की जांच में पीसी सिंह के घर से एक करोड़ से अधिक की नगदी के साथ बड़ी मात्रा में विदेश मुद्रा मिली है। घर से बड़ी मात्रा में कैश बरामद होने के बाद ईओडब्ल्यू की टीम को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से नोट गिनने की मशीन मंगवानी पड़ी। ईओडब्ल्यू की टीम की छापामार कार्रवाई लगातार जारी है।
 
चैयरमैन पीसी सिंह पर फर्जी दस्तावेज तैयार कर मूल सोसाइटी का नाम बदलने और करीब 2 करोड़ से ज्यादा रुपये धार्मिक संस्थाओं को ट्रांसफर कर गबन करने का आरोप है। ईओडब्ल्यू के अधिकारियों के मुताबिक पीसी सिंह के खिलाफ शिकायत मिली थी। शिकायत में बिशप पीसी सिंह, चेयरमैन "द बोर्ड ऑफ एजूकेशन चर्च ऑफ नार्थ इंडिया जबलपुर डायोसिस' जबलपुर के विरूद्ध फर्जी दस्तावेजों के आधार पर मूल सोसायटी का नाम परिवर्तन करने की बात सामने आई और दो करोड़ 70 लाख की राशि धार्मिक संस्थाओं को ट्रांसफर करने के आरोप सही पाए गए। जिसके बाद आज ईओडब्ल्यू ने छापामार कार्रवाई की। 

पीसी सिंह पर बतौर चेयरमैन पद का दुरूपयोग करते हुए सोसायटी की विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं में प्राप्त होने वाली छात्रों की फीस का उपयोग धार्मिक संस्थाओं को चलाने का  भी आरोप। अब तक की जांच में शैक्षणिक संस्थाओं से वर्ष 2004-05 से वर्ष 2011-12 के बीच करीब दो करोड़ से ज्यादा की राशि धार्मिक संस्थाओं को ट्रांसफर कर इसका दुर्विनियोग करना तथा स्वयं के उपयोग में लेकर गबन करने के आरोप प्रथम दृष्टया प्रमाणित पाए गए। वहीं शिकायत जांच में मिली जानकारी के आधार पर आरोपी बिशप पी. सी. सिंह, बी. एस. सोलंकी, तत्कालीन असिस्टेंट रजिस्ट्रार फर्म्स एण्ड संस्थाएं जबलपुर के विरूद्ध धारा 406, 420, 468, 471, 120(बी) के तहत केस दर्ज किया गया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

बाढ़ से बेहाल बेंगलुरु, IMD के अलर्ट ने फिर बढ़ाई चिंता