Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Uttarakhand : उमा भारती ने ऋषि गंगा नदी पर पॉवर प्रोजेक्ट बनाने का किया था विरोध, हादसे को बताया चेतावनी

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
webdunia

विकास सिंह

रविवार, 7 फ़रवरी 2021 (14:23 IST)
भोपाल। उत्तराखंड के जोशीमठ में ग्लैशियर टूटने की बड़ी घटना के बाद अब पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने बड़े सवाल उठा दिए हैं। उमा भारती ने हादसे पर दु:ख‌ जताते हुए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर एक पोस्ट लिखी है।
 
उमा भारती ने लिखा है कि जोशीमठ से 24 किलोमीटर पैंगगांव जिला चमोली उत्तराखंड के ऊपर का ग्लैशियर टूटने से ऋषि गंगा पर बना हुआ पॉवर प्रोजेक्ट जोर से टूटा और एक तबाही लेकर आगे बढ़ रहा है। मैं गंगा मैया से प्रार्थना करती हूं कि मां सबकी रक्षा करें तथा प्राणीमात्र की रक्षा करें।
ALSO READ: उत्तराखंड के चमोली में एवलांच के बाद बड़ी तबाही, जल प्रलय‌ से ‌हाइड्रोपावर प्रोजेक्ट हुए बर्बाद
उमा ने आगे लिखा कि कल मैं उत्तरकाशी में थी, आज हरिद्वार पहुंची हूं। हरिद्वार में भी अलर्ट जारी हो गया है यानी कि तबाही हरिद्वार आ सकती है। यह हादसा जो हिमालय में ऋषि गंगा पर हुआ, चिंता एवं चेतावनी दोनों का विषय है।  इस संबंध में जब मैं मंत्री थी तब अपने मंत्रालय की तरफ से हिमालय व उत्तराखंड के बांधों के बारे में जो एफिडेविट दिया था, उसमें यही आग्रह किया था कि हिमालय एक बहुत संवेदनशील स्थान है। इसलिए गंगा एवं उसकी मुख्य सहायक नदियों पर पॉवर प्रोजेक्ट नहीं बनने चाहिए तथा इससे उत्तराखंड की जो 12% की क्षति होती है, वह नेशनल ग्रिड से पूरी कर देनी चाहिए।

उमा ने कहा कि मैं इस दुर्घटना से बहुत दुःखी हूं। उत्तराखंड देवभूमि है। वहां के लोग बहुत कठिनाई का जीवन जीकर तिब्बत से लगी सीमाओं की रक्षा के लिए सजग रहते हैं। मैं उन सबकी रक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना करती हूं। जिला चमोली, रुद्रप्रयाग व पौड़ी सभी जिलों में रहने वाले अपने आत्मीयजनों से मैं अपील करती हूं कि इस आपदा से प्रभावित लोगों की रक्षा एवं सेवा कार्यों में लग जाइए।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
Uttarakhad Live Updates : ग्लेशियर टूटने से तबाही, पीएम मोदी बोले- संकट की इस घड़ी में पूरा देश उत्तराखंड के साथ