युवाओं को साधने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने संभाला मोर्चा

रविवार, 28 अक्टूबर 2018 (15:40 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में यूथ वोटरों को साधने के लिए बीजेपी ने रविवार को नवमतदाता टाउन हॉल कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने युवाओं को संबोधित करते हुए अपने सरकार की युवाओं के लिए बनाई गई योजनाओं को बताया। 
 
मुख्यमंत्री ने कांग्रेस शासनकाल पर निशाना साधते हुए दिग्विजय सिंह को कठघरे में खड़ा किया। शिवराज ने युवाओं से कहा कि कांग्रेस ने पूरी एक पीढ़ी को बर्बाद कर दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों को अच्छी एजुकेशन देने के लिए उनकी सरकार ने दूरदराज इलाकों में स्कूल खोलने के साथ ही युवाओं को रोजगार देने के लिए कई योजनाए बनाई। 
 
मुख्यमंत्री ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि युवा वह होता है जो अपने संकल्प को पूरा किए बगैर चैन नहीं लेता। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने अपनी सियासी जीवन से जुड़ी यादों को साझा किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब मैं सातवीं क्लास में था तब मैंने अपना पहला आंदोलन किया था। 
 
मुख्यमंत्री ने युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि जब मुझे मुख्यमंत्री बनाना की घोषणा हुई, तब मैं घर में सो रहा था। इसके साथ ही मेरे सीएम बनने पर पहली बधाई मुझे कांग्रेसियों ने ही दी थी। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने दिग्विजय को बंटाधार बताते हुए कहा कि कांगेस के राज में व्यायाम करने की जरूरत ही नहीं पड़ती थी। सड़कों में इतने गड्ढे थे कि वैसे ही एक्सरसाइज हो जाती थी। 
 
सीएम ने कहा कि कांग्रेस ने मप्र को अंधरे का राज बना दिया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में नर्मदा एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ औद्योगिक कॉरिडोर बनाए जाएंगे। उद्योगों का जाल बिछाएंगे। ग्वालियर चम्बल में औद्योगिक कॉरिडोर डेवलप करेंगे। उद्योगों को आकर्षित करने के चम्बल एक्सप्रेस-वे बनाएंगे। 
 
इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने युवाओं को रोजगार देने लिए स्थानीय स्तर पर उद्योग लगाने के लिए अपने सरकार के विजन को लोगों के सामने रखा। मुख्यमंत्री ने युवाओं को स्टार्टअप्स लगाने के प्रेरित करते हुए कहा कि युवा उद्योग लगाएं। हमारी सरकार पैसा लगाएगी, सीएम ने कहा कि युवाओं को कला संस्कृति के क्षेत्र में भी आगे आने की जरूरत है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख इसरो के पूर्व प्रमुख जी. माधवन भाजपा में शामिल, अमित शाह ने दिलाई सदस्यता