Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

2 जून को भाजपा में शामिल हो सकते हैं हार्दिक पटेल

हमें फॉलो करें Hardik Patel
मंगलवार, 31 मई 2022 (12:45 IST)
नई दिल्ली। पिछले दिनों कांग्रेस से इस्तीफा दे चुके हार्दिक पटेल भाजपा में शामिल हो सकते हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई से उन्होंने स्वयं इस बात की पुष्टि की। हार्दिक ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि वे 2 जून को भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाले हैं।
 
आपको बता दें कि हार्दिक पटेल ने 18 मई को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। ऐसा माना जा रहा है कि हार्दिक 2 जून को पार्टी के गांधीनगर स्थित प्रदेश मुख्यालय में आधिकारिक रूप से भाजपा में शामिल हो सकते हैं। वह मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सी.आर पाटिल की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं।
 
वर्ष 2015 के पाटीदार आरक्षण आंदोलन से चर्चा में आए 28 वर्षीय हार्दिक पटेल ने पिछले लोकसभा चुनाव से पहले मार्च 2019 में विधिवत कांग्रेस का हाथ थामा था। उनकी लोकप्रियता को देखते हुए जुलाई 2020 में उन्हें कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया गया था। 
 
सोनिया गांधी को भेजे गए अपने इस्तीफे में उन्होंने राम मंदिर और धारा 370 जैसे मुद्दों का विरोध करने पर कांग्रेस की आलोचना की थी, तभी से यह अनुमानित था कि जल्द ही वे भाजपा में शामिल होने वाले हैं। 
 
उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर भी खूब निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व गुजरात के मुद्दों को लेकर तनिक भी गंभीर नहीं है। पार्टी की अहम बैठकों के दौरान गुजरात के नेता फोन चलाने में लगे रहते हैं। उन्होंने दावा किया था कि गुजरात के नेता निजी फायदों के लिए बिक गए। 
 
बीच में ऐसी अटकलें भी थी कि हार्दिक आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। इसी साल गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावों में हार्दिक पटेल एक भूमिका निभाते हुए नजर आ सकते हैं।
 
पटेल राज्य के पाटीदार समाज की एक बड़ी आबादी का प्रतिनिधित्व करते हैं। पाटीदार समुदाय के हिंसक आरक्षण आंदोलन के दौरान उन्हें राजद्रोह के दो चर्चित मुकदमों में लंबे समय तक जेल में भी रहना पड़ा था। उनके आंदोलन के चलते तत्कालीन मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल को पद से हटना भी पड़ा था। इस आंदोलन की वजह से भाजपा को गुजरात में हुए पिछले विधानसभा चुनावों में काफी नुकसान हुआ था। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राहुल भट्‍ट के बाद अब विस्थापित कश्मीरी महिला टीचर रजनी की कुलगाम में हत्या