Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भारी बारिश से कई राज्यों में हाल बेहाल (live Updates)

हमें फॉलो करें webdunia
गुरुवार, 14 जुलाई 2022 (09:10 IST)
नई दिल्ली। महाराष्‍ट्र, गुजरात समेत देश के कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, श्रीलंका संकट समेत इन खबरों पर गुरुवार, 14 जुलाई को सबकी नजर रहेगी। पल-पल की जानकारी... 
 
-आंध्र प्रदेश के राजामहेंद्रवरम के पास दोवालेस्वरम बैराज में गुरुवार को सुबह पानी की मात्रा बढ़कर 15.52 लाख क्यूसेक हो गई और बाढ़ का खतरा बरकरार है।
-राजस्थान में मानसून का दौर जारी है जहां बीते 24 घंटे के दौरान राज्य के पूर्वी हिस्सों में मूसलाधार बारिश हुई। इस दौरान सबसे अधिक 140 मिलीमीटर बारिश झालावाड़ के डग में दर्ज की गई।
-पटना में 2 संदिग्ध आतंकी गिरफ्‍तार, संदिग्धों के PFI से जुड़े होने का शक।
-श्रीलंका में नहीं थमा बवाल, संसद के बाहर सेना के टैंक तैनात।
-आज महाराष्‍ट्र, तेलंगाना और पश्चिमी मध्य प्रदेश में तेज बारिश की संभावना है। वहीं गुजरात, छत्तीसगढ़, ओडिशा, कोंकण और गोवा के साथ गुजरात में भी भारी बारिश हो सकती है।
-गुजरात के नवसारी में भारी बारिश का अलर्ट, स्कूल-कॉलेज बंद।
-मौसम विभाग का कहना है कि 14 जुलाई को पंजाब, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है। वहीं अगले तीन दिनों तक उत्तराखंड में मध्यम से भारी वर्षा के आसार हैं। 15 जुलाई को पश्चमी उत्तर प्रदेश में भी बारिश हो सकती है। 
-महाराष्‍ट्र में भारी बारिश का कहर, मुंबई यूनिवर्सिटी में परीक्षा रद्द, ठाणे - पालघर में स्कूल बंद।
-महाराष्ट्र, गुजरात समेत 4 राज्यों में बाढ़ से 270 की मौत। 
-कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों में बारिश का कहर जारी, मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि अब तक 32 लोगों की जान चली गई है तथा क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे की मरम्मत के लिए 500 करोड़ रुपए तुरंत जारी किए जाएंगे।
-श्रीलंका के राष्‍ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने नहीं दिया इस्तीफा, देश छोड़ मालदीव भागे। सिंगापुर में ले सकते हैं शरण।
-ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद के लिए आज दूसरे चरण का मतदान, पहले चरण में ऋषि सुनक को मिले थे सबसे ज्यादा वोट।
-ईंधन, खाने-पीने का सामान और घरों का किराया बढ़ने से जून के महीने में अमेरिका की मुद्रास्फीति बढ़कर 41 साल के शीर्ष स्तर पर पहुंच गई। जून, 2022 में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति एक साल पहले की तुलना में 9.1 प्रतिशत बढ़ गई। यह वर्ष 1981 के बाद की सर्वाधिक मुद्रास्फीति वृद्धि है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Petrol Diesel Prices : क्रूड ऑइल के भावों में आई और भी गिरावट, पेट्रोल-डीजल के भावों में कोई परिवर्तन नहीं