Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मणिशंकर अय्यर ने कहा- मुगलों ने धर्म के नाम कभी नहीं किया अत्याचार, सत्ता में बैठे लोगों के लिए सिर्फ 80% ही असली भारतीय

webdunia
सोमवार, 15 नवंबर 2021 (14:38 IST)
नई दिल्ली। कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद का किताब विवाद थमा नहीं कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने नया बयान देकर बवाल खड़ा कर दिया है। अय्यर ने मुगलों की जमकर तारीफ की है। उन्होंने कहा कि मुगलों ने इस देश को अपना बनाया। अंग्रेजों ने कहा कि हम तो यहां राज करने आए हैं। उन्होंने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि सत्ता में बैठे लोगों के लिए सिर्फ 80 प्रतिशत लोग ही असली भारतीय हैं।
 
रविवार को नेहरू जयंती पर हुए एक कार्यक्रम के दौरान मणिशंकर अय्यर ने मुगल शासन में हुए अत्याचारों की बातों को नकारा। अय्यर ने दावा किया कि मुगलों ने कभी देश में धर्म के नाम पर अत्याचार नहीं किया। कांग्रेस नेता ने भाजपा निशाना साधते हुए कहा कि मुगल बादशाहों का जिक्र कर कहा कि सत्ता में बैठे लोगों के लिए केवल 80 प्रतिशत लोग ही असली भारतीय। 
 
मणिशंकर अय्यर ने कहा कि मुगलों ने इस देश को अपना बनाया। अंग्रेजों ने कहा कि हम तो यहां राज करने आए हैं। बाबर ने महज चार साल में हुमायूं को बताया कि अगर आप इस देश को चलाना चाहते हैं तो यहां के निवासियों के धर्म में दखल नहीं दीजिएगा। उनके बेटे अकबर ने इस देश में पचास साल तक राज किया। दिल्ली में एक सड़क है, जहां कांग्रेस दफ्तर है, वह अकबर रोड पर है। 
 
हमें अकबर रोड से कोई आपत्ति नहीं। हम अकबर को अपना समझते हैं और हम उन्हें गैर नहीं समझते थे। उनकी शादियां राजपूतों से होती थीं। नतीजा यह कि जहांगीर आधा राजपूत थे और उनके बेटे शाहजहां चार में से तीन हिस्सा तो हिन्दू थे। 
 
अय्यर ने कहा कि 1872 में अंग्रेजों ने पहली जनगणना करवाई और उससे पता लगा कि 666 साल राज करने के बाद मुसलमानों की तादाद भारत में तकरीबन 24 फीसदी की थी और हिंदुओं की 72 फीसदी थी। मगर ये कहते हैं कि मारपीट हुई, सब लड़कियों के साथ बलात्कार हुआ और सबको मुसलमान बना दिया। अरे अगर मुसलमान बनते तो आंकड़े अलग होने चाहिए। 
 
72 प्रतिशत मुसलमान होने चाहिए और 24 प्रतिशत हिन्दू होने चाहिए। लेकिन असलियत क्या थी कि इतने ही थे। इसलिए बंटवारे से पहले जिन्ना का एक ही मांग था कि सेंट्रल एसेंबली में हमें 30 प्रतिशत आरक्षण दीजिए। उन्होंने बस इतना ही मांगा, लेकिन उन्हें इनकार कर दिया गया, क्योंकि उनकी संख्या 26 प्रतिशत ही थी। 
 
अय्यर ने कहा कि राहुल जी ने हाल में दो-तीन दिन पहले ये कहा कि हिन्दू धर्म और हिन्दुत्व में अंतर है। मैं उसके साथ जोड़ना चाहता हूं कि अंतर ये है कि हम जो हिन्दू धर्म पर विश्वास करते हैं। हम 100 प्रतिशत भारतीय हैं। हम सारे जो इस देश के बाशिंदे हैं, हम उनको भारतीय समझते हैं और चंद लोग हैं हमारे बीच में जो आज के दिन सत्ता में हैं, जिनका कहना है कि नहीं, 80 प्रतिशत भारतीय, जो कि 80 हिन्दू धर्म को मानते हैं, वही हैं असली भारतीय।
 
पिछले दिनों राहुल गांधी ने भी हिन्दुत्व और हिन्दू धर्म पर अंतर स्पष्ट किया था। उन्होंने कहा था कि क्या सिख या मुसलमान को पीटना हिन्दू धर्म है? हिन्दुत्व तो निश्चित रूप से यही है। यह किस (हिन्दू) किताब में लिखा है? मैने इसे नहीं देखा है। मैंने उपनिषद पढ़े हैं, लेकिन मैंने इसे वहां भी नहीं पढ़ा है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

हनी ट्रैप का शिकार हुआ जवान, ISI एजेंट को सूचनाएं कर रहा था लीक, बिहार ATS ने किया गिरफ्तार