मीरामार पर राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार, बेटे ने दी मुखाग्नि

सोमवार, 18 मार्च 2019 (18:17 IST)
पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर का सोमवार शाम को मीरामार पर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनके बेटे उत्पल ने मुखाग्नि दी। जैसे ही चिता में आग तेज होती गई, वैसे ही हजारों आंखों से आंसू बह निकले। 63 वर्षीय पर्रिकर का रविवार शाम निधन हो गया था। वे बीते एक साल से पैनक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे। पर्रिकर से जुड़ी हर जानकारी....
 
 
- पर्रिकर को अंतिम विदाई देने के लिए उनकी अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में लोग पहुंचे 
- अंतिम संस्कार के वक्त अमित शाह, नितिन गडकरी और सुरेश प्रभु सहित कई भाजपा नेता मौजूद रहे
- जिस तरह पर्रिकर ने अपना पूरा जीवन सादगी से जिया, वैसी ही सादगी से उन्हें आखिरी विदाई भी दी गई
- मीरामार का अंतिम सफर 5 किलोमीटर लंबा था और पूरे मार्ग में लोग अपने प्रिय नेता की एक झलक पाने के लिए उमड़े हुए थे

पर्रिकर को श्रद्धांजलि देते समय रो पड़ीं केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी
- जिस जगह पर्रिकर का दाह संस्कार हुआ, उसके पास ही गोवा के प्रथम मुख्यमंत्री दयानंद बांदोडकर का स्मारक भी है
- शवयात्रा में गोवावासियों के साथ ही आम जनमानस का सैलाब चला 
- पर्रिकर के पार्थिव शरीर को एक वाहन पर रखा गया था और उसे फूलों से सजाया था
- पर्रिकर की अंतिम यात्रा यहां कला अकादमी से निकलकर मीरामार बीच तक पहुंची
 
- उनके पार्थिव शरीर को लेकर चल रहे वाहन के चारों ओर उनके प्रशंसक और पार्टी कार्यकर्ताओं की आंखें नम रहीं 
- डोना पाउला में पर्रिकर का निजी आवास है और आज सुबह वाहन में उनके पार्थिव शरीर को वहां से पणजी लाया गया था 

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मनोहर पर्रिकर के परिवार से मुलाकात की।
पीएम मोदी ने मनोहर पर्रिकर को दी श्रद्धांजलि। 
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मनोहर पर्रिकर को अंतिम विदाई के लिए पहुंचे गोवा। 
अपने चहेते मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि देने के लिए पणजी स्थित BJP कार्यालय पर लोगों का सैलाब
दिवंगत मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पार्थिव शरीर को पणजी स्थित उनके आवास से भाजपा कार्यालय ले जाया जा रहा है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख सेंसेक्स व निफ्टी में लगातार 6ठे कारोबारी सत्र में तेजी, 70 अंक चढ़ा सूचकांक