CAA के विरोध प्रदर्शन में ‘आजादी’ के नारे लगे तो दर्ज होगा देशद्रोह का केस, योगी आदित्यनाथ की सीधी चेतावनी

विकास सिंह

गुरुवार, 23 जनवरी 2020 (09:10 IST)
उत्तरप्रदेश में CAA के लगातार बढ़ते विरोध प्रदर्शन के बाद अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदर्शनकारियों को सीधी चेतावनी दी है। कानपुर में CAA को लेकर जन-जागरूकता रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में कश्मीर वाली आजादी के नारे नहीं लगने दिए जाएंगे। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर किसी ने ऐसा किया तो उसके खिलाफ देशद्रोह का केस किया जाएगा और किसी भी कीमत पर ऐसे लोगों को नहीं छोड़ा जाएगा।
 
सीएम ने चेतावनी देते हुए कहा कि धरना-प्रदर्शन के नाम कश्मीर की तरह आजादी के नारे लगाने को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत की धरती पर खड़े होकर भारत के खिलाफ षड्‍यंत्र करने की इजाजत किसी भी स्थिति में नहीं दी जा सकती। उन्होंने कहा कि अगर किसी ने विरोध प्रदर्शन के नाम पर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया तो ऐसी सजा देंगे कि आने वाली पीढ़ियां याद करेंगी।
इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विरोध की आड़ में अराजकतत्वों ने हिंसा करवाई और सरकार हिंसा में शामिल ऐसे किसी भी व्यकित का नहीं बख्शेगी। सीएम योगी ने प्रदर्शन के पीछे विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पूरे धरना प्रदर्शन को फाइनेंस किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार की कड़ी कार्रवाई के बाद अब पुरुष घर में रजाई में बैठे है और चौराहे-चौराहे पर महिलाओं और बच्चों को बैठाया जा रहा है।
 
प्रदर्शनकारियों पर FIR : उत्तरप्रदेश में CAA के विरोध में लखनऊ, इलाहाबाद, अलीगढ़ समेत कई शहरों में लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शन के बीच अब तक पुलिस ने सैकड़ों लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। लखनऊ और इलाहाबाद में महिलाओं के लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शन को खत्म करने के लिए यूपी पुलिस ने दोनों ही शहरों में प्रदर्शनकारी महिलाओं के खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज किया है। गौरतलब है कि CAA पर विरोध प्रदर्शन के दौरान युवाओं की टोली अक्सर लोगों में जोश भरने के लिए भूख, गरीबी जैसे आजादी के नारे लगाती है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख क्या है निर्भया के दोषियों की आखिरी इच्छा?