Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Monsoon uptate : मध्यप्रदेश के 17 जिलों में अगले 48 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी

webdunia
रविवार, 28 जुलाई 2019 (22:47 IST)
भोपाल। बंगाल की खाड़ी पर कम दबाव का एक और क्षेत्र बनने से मध्यप्रदेश बारिश से तरबतर हो रहा है। अगले 2 से 3 दिन भी यही स्थिति रहने का अनुमान है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में प्रदेश के 17 जिलों के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।
 
इन जिलों के जारी की गई चेतावनी : मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों के लिए कटनी, मंडला, जबलपुर, अनूपपुर, विदिशा, सागर, दमोह, छिंदवाड़ा, बालाघाट, सिवनी, बैतूल, गुना, हरदा, रायसेन, सीहोर, अलीराजपुर और अशोकनगर जिलों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है।
 
अच्छी बारिश के संकेत : मौसम विज्ञान भोपाल केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि इसके साथ ही उत्तर पश्चिम मध्यप्रदेश एवं पूर्वी राजस्थान पर आज ऊपरी हवाओं में 4.5 किलोमीटर ऊपर एक चक्रवाती घेरा भी बन गया है। द्रोणिका (मानसून ट्रफ लाइन) भी बीकानेर, सवाईमाधोपुर और मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ से छत्तीसगढ़ एवं ओडिशा होते हुए बंगाल की खाड़ी तक जा रही है, जो अच्छी वर्षा का संकेत है।
webdunia
भारी बारिश जनजीवन प्रभावित : मध्यप्रदेश के पश्चिम एवं दक्षिणी क्षेत्र में दो दिन से हो रही व्यापक वर्षा के चलते कई नदी नालों में उफान आने से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों में गरोड (मंदसौर) में 200 मिमीमीटर, शुजालपुर में 190 मिमी, शाजापुर में 177 मिमी, आष्टा में 175 मिमी, अठनेर (बैतूल) 136 मिमी, होशंगाबाद में 106 मिमी एवं मंदसौर में 90 मिमी वर्षा हुई है।
 
राजधानी भोपाल में भी पिछले 24 घंटों के दौरान 120.9 मिमी पानी बरसा है। कल रात तेज हवा के साथ हुई बारिश के दौरान शहर में विभिन्न स्थानों पर 8 से 10 पेड़ उखड़ गए। शहर के निचले इलाकों में जल भराव हो गया। आज भी सुबह से सावन की हल्की झड़ी लगी हुई है और सड़कों पर पानी बह रहा है। घने बादलों की वजह से कहीं कहीं दिन का पर्याप्त उजास ना होने से वाहन चालकों को हेडलाइन जलाकर गुजरना पड रहा है।
webdunia
इस दौरान मंदसौर में 90 मिमी तथा जिले के गरोठ क्षेत्र में 200 मिलीमीटर पानी बरसा है। सिवना नदी का जल स्तर बढ़ने से कालाभाटा बांध का एक गेट खोल कर पानी छोड़ा जा रहा है।  बैतूल में कल रात सूखी एवं धार नदी में बाढ़ आने से शहर के निकट जबलपुर- नागपुर राष्ट्रीय मार्ग पर तेज गति से पानी बहने से यह मार्ग बाधित हो गया था, जो आज दोपहर पानी उतरने के चालू हो सका। इस दौरान दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतातें लगी गई थी।
 
बढ़ रहा है नर्मदा का जल स्तर : शाजापुर एवं शुजालपुर में भारी बारिश होने से बाढ़ के हालात बन गए तथा वर्षा का पानी कई लोगों के घर में घुस गया। इससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। सीहोर जिले में कुलांस नदी में उफान आ गया। इस नदी का पानी भोपाल के बड़े तालाब में आता है। नदी के आए उफान से कुछ गांवों में भी पानी घुसा है। होशंगाबाद में भी अच्छी बारिश हो रही है और नर्मदा का जल स्तर बढ़ रहा है।  
webdunia
गुजरात में 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी : गुजरात में मौसम विभाग ने अगले 3 दिनों तक अत्याधिक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है, जिसके कारण एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं।  
 
मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जयंत सरकार ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव क्षेत्र बनने के प्रभाव से राज्य के उत्तर, मध्य और दक्षिण गुजरात में अगले तीन दिनों तक अत्याधिक भारी बारिश हो सकती है।     
 
दक्षिणी गुजरात और सौराष्ट्र में पिछले 3 दिनों से हो रही बारिश का दौर रविवार को भी जारी रहा। नदियों में  जल स्तर बढ़ने से आस-पास के गांवों में जलभराव हो गया। बरसात के कारण कई शहरी इलाकों में भी पानी भर गया। राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 29 जिलों के 109 तालुका में वर्षा हुई, जिसमें से सर्वाधिक 71 मिमी डांग जिले के डांग (आहवा) में हुई। राज्य में अब तक औसत बारिश 32.60 प्रतिशत दर्ज की गई। 
 
पिछले 24 घंटे के दौरान सुबीर में 53, वघई में 51 मिमी, वलसाड जिले के धरमपुर में 33, कपराडा में 70, पारडी में 15, उमरगाम 28 मिमी, वापी में 42, नर्मदा जिले के नांदोद में 58 मिमी, तापी जिले के निजर में 33, सोनगढ़ में 25, उच्छल में 12, वालोद में 32, व्यारा में 26, डोलवन में 17, कुकरमुंडा में 27, सूरत जिले के महुवा और मांगरोल में 31 मिमी बारिश दर्ज की गई। 
 
राजस्थान, कोंकण में दक्षिण पश्चिम मानसून सक्रिय : पुणे के मौसम विभाग द्वारा जारी बयान के अनुसार राजस्थान, मध्यप्रदेश, कोंकण, गोवा विदर्भ और तेलंगाना में दक्षिण पश्चिम मानसून सक्रिय रहा। पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्यप्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के अलग-अलग स्थानों पर अगले 24 घंटों के दौरान गरज के साथ बारिश हो सकती है। 
 
मौसम विभाग के अनुसार कोंकण, गोवा, पूर्वी राजस्थान, मध्य महाराष्ट्र, पश्चिमी राजस्थान, गुजरात, पश्चिमी मध्य प्रदेश, विदर्भ, ओडिशा, तटीय कर्नाटक, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, तेलंगाना, मराठवाड़ा पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल के अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।
 
बिहार और झारखंड के अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बारिश का पूर्वानुमान है। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। ओडिशा, पिश्चम बंगाल, महाराष्ट्र और गुजरात के तटीय इलाकों में तेज हवाएं चलने का पूर्वानुमान है और इसके मद्देनजर मछुआरों को अगले 24 घंटों तक इन क्षेत्रों नहीं जाने की सलाह दी गई है। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

युवराज सिंह ने 21 गेंद में 35 और गोनी ने 12 गेंद में 33 रन ठोंके