Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Aadhaar Card के डेटा का हो सकता है गलत इस्तेमाल, ऐसे कर सकते हैं Lock

हमें फॉलो करें webdunia
Aadhaar Card हर भारतीय की पहचान है। कई सरकारी कामों में इसका इस्तेमाल एक पहचान के रूप में होता है। इसमें व्यक्ति से जुड़े जरूरी डेटा होते हैं, जिनका गलत इस्तेमाल भी हो सकता है। केंद्र सरकार भी आधार डेटा की प्राइवेसी मेंटेन करने के लिए कई जरूरी फीचर्स लांच करती रहती है। आज हम आपको बताते हैं कैसे आप अपने Aadhaar Card को लॉक कर सकते हैं।  
आधार लॉक का अर्थ है 12 डिजिट की संख्या और इसकी जगह 16 डिजिट के वर्चुअल आईडी (VID) का इस्तेमाल किसी भी तरह के जरूरी ऑथेन्टिकेशन के लिए नहीं किया जा सकेगा। जब कोई व्यक्ति एक बार आधार को लॉक कर लेता है तो उसके बाद UID, UID टोकन आदि के लिए ऑथेन्टिकेशन प्रोसेस नहीं किया जा सकेगा। इसमें बायोमेट्रिक, डेमो​ग्राफिक और ओटीपी बेस्ड ऑथेन्टिकेशन भी काम नहीं करेगा। कोई व्यक्ति अपने यूनिक आईडी को अनलॉक करना चाहता है तो उसे रेजिडेंट पोर्टल पर जाकर अनलॉक किया जा सकता है। अनलॉकिंग के बाद सभी तरह के ऑथेन्टिकेशन प्रोसेस को पूरा किया जा सकता है।
 
आधार धारकों के पास बायोमेट्रिक्स लॉक (Aadhaar Biometric Lock) करने का भी ऑप्शन है। बायोमेट्रिक लॉक या अनलॉक करने की एक ऐसी सुविधा है जिससे आधार कार्ड धारक कुछ समय के लिए अपने बायोमेट्रिक को लॉक करता है और जरूरत पड़ने पर इसे अनलॉक कर लेता है। इस सुविधा का उद्देश्य बायोमेट्रिक डेटा की प्राइवेसी को सिक्योर रखना है। बायोमेट्रिक लॉक होने से यह सुनिश्चित हो जाता है कि फिंगरप्रिंट या आंखों की पु​तली से जुड़े डेट का गलत इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा। आधारकार्ड होल्डर आसानी से अपने बायोमेट्रिक को अनलॉक भी कर सकता है।
बायोमैट्रिक लॉक या अनलॉक 
इसके लिए भी आपको रेजिडेंट पोर्टल पर जाना होगा। इस पोर्टल पर My Adhaar सेक्शन में जाने के बाद Aadhaar Service सर्विस में जाएं। इसमें lock/unlock biometrics का ऑप्शन दिया होगा। अगले स्टेप में अपना आधार नंबर या वीआईडी नंबर डालें। कैप्चा कोड डालने के बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी मंगाएं। ओटीपी डालने के बाद इसे सबमिट कर दें। इतना करने के बाद आपका बायोमेट्रिक लॉक हो जाएगा। आधार बोयोमेट्रिक अनलॉक करने के लिए भी इसी प्रक्रिया को फॉलो करें।
 
यूनिट आइडेंटिफिकेशन को लॉक करने के लिए व्यक्ति के पास 16 डिजिट का वर्चुअल आईडी नंबर होना चाहिए। अगर किसी के पास वीआईडी नहीं है तो इसे एसएमएस के जरिए जेनरेट भी किया जा सकता है। इसके लिए मैसेज बॉक्स में GVID लिखकर स्पेस के बाद आधार के अंतिम 4 या 8 डिजिट लिखना होगा। इसके बाद इस मैसेज को 1947 पर भेज देना होगा।
ऐसे कर सकते हैं लॉक : रेजिडेंट पोर्टल पर जाकर My Adhaar के सेक्शन में जाएं और यहां पर आधार सर्विसेज में Lock & Unlock पर क्लिक करें। इसमें UID लॉक रेडियो बटन पर क्लिक करें और आधार नंबर डालें। इसके बाद इसमें पूरा नाम, पिनकोड और लेटेस्ट डिटेल डालने के बाद सिक्योरिटी कोड भरना होगा। इसके बाद ओटीपी के लिए क्लिक करें या TOTP को सेलेक्ट कर सबमिट बटन पर क्लिक करें। 
 
अब जाने अनलॉक की प्रक्रिया : अपनी यूनिक आईडी को अनलॉक करने के लिए आपके पास ले​टेस्ट वीआईडी नंबर होना चाहिए। अगर आप 16 डिजिट के वीआईडी नंबर को भूल जाते हैं तो इसके रिट्रीव भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको RVID लिखकर स्पेस के बाद आधार नंबर के ​अंतिम 4 या 8 डिजिट लिखना होगा और इसे 1947 पर भेजना होगा।
 
वीआईडी मिलने के बाद Unlock रेडियो बटन पर क्लिक करना होगा और लेटेस्ट वीआईडी भरना होगा। इसके बाद सिक्योरिटी कोड डालकर ओटीपी मंगाएं या TOTP सेलेक्ट कर सबमिट पर क्लिक करें। आपका आधार कार्ड अनलॉक हो जाएगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Coronavirus : 11 मार्च को ही घोषित हुई थी वैश्विक महामारी, 1 साल में संक्रमितों की संख्‍या 6.68 करोड़ के पार