अगले 24 घंटे कश्मीर में भारी हिमपात की चेतावनी, भूस्खलन ने बढ़ाई मुसीबत

बुधवार, 23 जनवरी 2019 (12:10 IST)
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रहे हिमस्खलन और भूस्खलन के कारण 300 किलोमीटर लंबा श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग बुधवार को तीसरे दिन भी बंद रहा। इसके कारण राजमार्ग के विभिन्न स्थानों पर सैकड़ों वाहन विशेषकर ट्रक और तेल टैंकर फंसे हुए हैं। हिमपात एवं बर्फबारी के कारण लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर घाटी से जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग, ऐतिहासिक मुगल रोड तथा अन्य सड़कें भी बंद हैं।


यातायात पुलिस के अधिकारी ने बताया कि कश्मीर घाटी को सभी मौसम में देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग आज तीसरे दिन भी बंद है। उन्होंने बताया कि भारी हिमपात होने के कारण जवाहर सुरंग का एक दरवाजा क्षतिग्रस्त हो गया है। उन्होंने बताया कि रामबन तथा रामसू के बीच कई जगहों पर भूस्खलन हुआ है और पहाड़ों से चट्टान नीचे गिर रही हैं।

उन्होंने बताया कि राजमार्ग की देखभाल करने वाला सीमा सड़क संगठन अत्याधुनिक मशीनों तथा श्रमिकों की सहायता से सड़क पर पड़े हिमस्खलन एवं भूस्खलन के मलबे को हटाकर मार्ग की मरम्मत करने में जुटा हुआ है। उन्होंने बताया कि अगले 24 घंटे के दौरान भारी हिमपात के पूर्वानुमान को देखते हुए विभागीय अधिकारियों ने जमीनी और हवाई यातायात के प्रभावित होने की चेतावनी जारी की है।

उन्होंने बताया कि जम्मू या श्रीनगर से वाहनों को फिर से चलने की अनुमति तभी दी जाएगी, जब राजमार्ग पर फंसे वाहन निकल जाएंगे। उन्होंने लोगों से अपील की कि श्रीनगर, जम्मू तथा रामबन में स्थित यातायात नियंत्रण इकाई से जानकारी हासिल करने के बाद ही राजमार्ग पर यात्रा करें। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सुरंग के दोनों ओर काफी संख्या में वाहन विशेषकर ट्रक और तेल के टैंकर फंसे हुए हैं।

सूत्रों ने बताया कि राजमार्ग पर फंसे वाहनों के निकल जाने के बाद ही नए वाहनों के परिचालन की इजाजत दी जाएगी। राजमार्ग पर फंसे हुए ट्रकों और अन्य वाहनों के चालकों ने आरोप लगाया कि उन्हें ऐसे ऊंचे और शुष्क जगहों पर रोक दिया गया है, जहां पर खाने-पीने का सामान भी उपलब्ध नहीं है। यातायात विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर के साथ जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग हिमपात के कारण पिछले दो महीने से बंद है। उन्होंने बताया कि सोनमर्ग, जोजिला दर्रा, जीरो प्वाइंट तथा मीनमार्ग में ताजा हिमपात हुआ है।

उन्होंने बताया कि सीमावर्ती कारगिल को लेह राजमार्ग के साथ जोड़ने वाली सड़क के मार्च या अप्रैल में खुलने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि दक्षिण कश्मीर में शोपियां को जम्मू क्षेत्र के राजौरी तथा पुंछ के साथ जोड़ने वाले 86 किलोमीटर लंबे ऐतिहासिक मुगल रोड पर भी पिछले 24 घंटे के दौरान बर्फबारी हुई है। हिमपात और सड़क पर फिसलन के कारण यह रोड पिछले दो महीने से बंद है। दक्षिण कश्मीर में अनंतनाग से जम्मू क्षेत्र के किश्तवाड़ को जोड़ने वाला रोड भी हिमपात के कारण बंद है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख EVMhackathon : राहुल गांधी को शिवराज सिंह ने बताया समझदार...