हिज्ब कमांडर रियाज नायकू के तीन आतंकी ठिकाने तबाह

सुरेश डुग्गर

बुधवार, 26 दिसंबर 2018 (19:20 IST)
श्रीनगर। सुरक्षाबलों ने अपने आतंकरोधी अभियान को जारी रखते हुए बुधवार को दक्षिण कश्मीर के बद्रीवन, अवंतीपोर में हिज्ब कमांडर रियाज नायकू के एक ठिकाने को तबाह करने के साथ ही चार गांवों में कासो चलाया। आतंकियों के ठिकाने का पता लगाने के लिए सुरक्षाबलों ने अपने खोजी कुत्तों और ड्रोन की मदद भी ली है। इस दौरान, अफवाहों पर काबू पाने के लिए प्रशासन ने अवंतीपोर के विभिन्न हिस्सों में मोबाईल इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया।
 
यहां मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस को अपने तंत्र से पता चला कि हिज्ब और लश्कर के चार आतंकियों का एक दल अवंतीपोर के निकट रेंजीपोरा गांव में देखा गया है। सेना, पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने उसी समय इन आतंकियों को पकड़ने के लिए रेंजीपोरा की घेराबंदी कर ली। यह घेराबंदी सुबह साढ़े पांच बजे शुरू हुई। जवानों ने गांव में आने जाने के सभी रास्ते बंद करते हुए कासो चलाया।
 
स्थानीय सूत्रों की मानें तो सुबह साढ़े नौ बजे तक जवानों ने आतंकियों का ठिकाना होने के संदेह में सभी संदिग्ध मकानों की तलाश ली, लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला। इसके बाद जवानों ने अपने खोजी कुत्तों की मदद लेने के साथ ही ड्रोन भी आस्मां में छोड़ दिए। इसके करीब आधे घंटे बाद यह तलाशी अभियान रेंजीपोरा के साथ सटे चार अन्य गांवों तक फैल गया। सुरक्षाबलों की अतिरिक्त टुकड़ियां भी मौके पर पहुंच गई।
 
बताया जाता है कि इस ठिकाने से सुरक्षाबलों को आतंकियों द्वारा जमा किए गए हथियारों के एक जखीरे के अलावा भारी मात्रा में राशन, कंबल, दवाएं व अन्य सामान मिला है। सामान को अपने कब्जे में लेने के बाद जवानों ने ठिकाना तबाह कर दिया ताकि आतंकी इसका दोबारा इस्तेमाल नहीं कर सकें। संबधित सूत्रों ने बताया कि यह ठिकाना रियाज नायकू का था। आतंकियों को सुरक्षाबलों के अभियान की भनक लग गई थी और वह समय रहते वहां से निकल गए थे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मयंक अग्रवाल पर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज क्यों हावी नहीं हो पाए, जानिए 5 कारण