Corona का कहर, चीन में हजारों शव जलाए, एक दिन में 108 ने दम तोड़ा

बुधवार, 12 फ़रवरी 2020 (12:57 IST)
नई दिल्ली। कोरोना वायरस (corona virus) को लेकर चीन से बहुत ही डरावनी खबर बाहर आ रही है। खबर आ रही है कि चीन में मेडिकल वेस्ट के साथ कोरोना से मारे गए लोगों के शवों को जलाना शुरू कर दिया है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि कोरोना से मौत का जो आंकड़ा चीन से आ रहा है, हकीकत में वह कई गुना ज्यादा है। वहां की स्थितियां काफी भयानक हैं। 
 
दअरसल, चीन की यह हकीकत सैटेलाइट तस्वीरों के माध्यम से सामने आई है। इसके मुताबिक वुहान (चीन) के आसमान में सल्फर डाईऑक्साइड (SO2) की मात्रा काफी ज्यादा है। यह स्थिति तब बनती है जब या तो मेडिकल वेस्ट जलाया जा रहा हो या फिर मानव शव जलाए जा रहे हों। शवों को जलाने से भारी मात्रा में सल्फर डाईऑक्साइड गैस निकलती है।
 
चीन के आसमान में सल्फर डाईऑक्साइड की मात्रा 1350 माइक्रोग्राम पर क्यूबिक मीटर (µg/m3) है। ब्रिटेन में तो 500 µg/m3 के लेबल को ही बेहद खतरनाक माना जाता है। चीन के दूसरे शहरों- बीजिंग और शंघाई में भी सल्फर डाईऑक्साइड खतरनाक स्तर पर है। अत: कहा जा रहा है कि चीन हकीकत को छुपा रहा है। 
 
इस आशंका को इसलिए भी बल मिलता है क्योंकि चीन के वुहान में ही कोरोना के संक्रमण से सर्वाधिक मौतें हुई हैं। इसलिए यह भी कहा जा रहा है कि कोरोना से मौत के जो आंकड़े चीन से बाहर आ रहे हैं, हकीकत इससे कई गुना अधिक हो सकती है। सोमवार को एक ही दिन में 108 लोगों की कोरोना वाइरस से मौत हो गई।
 
सल्फर डाईऑक्साइड की मात्रा के आधार पर अनुमान लगाया जा रहा है कि अकेले वुहान शहर में 10 हज़ार से ज्यादा शवों को जलाया गया है। उल्लेखनीय है कि वुहान में करीब 10 लाख लोगों को निगरानी में रखा गया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Corona virus का था शक, परिवार को बचाने के लिए की आत्‍महत्‍या